यूकेएसएसएससी की धांधली में युवाओं ने अब गोलू देवता से लगाई न्याय की अर्जी

'हे गोलज्यू! अब तुमि न्या करिया, यो घोटाला में जदु मैंस शामिल छन उननकैं तुम दंड दिया..',

यूकेएसएसएससी की धांधली में युवाओं ने अब गोलू देवता से लगाई न्याय की अर्जी

उत्तराखंड में इन दिनों एक ऐसा वाकया चल रहा है, जिसमें कई युवाओं की जान लटक रही है. हम बात कर रहे हैं यूकेएसएससीसी की धांधली की, जिसका प्रदर्शन अल्मोड़ा के युवा भी कर रहे हैं. पहले चरण में 29 अगस्त को चौहानपाटा में पोस्टर और सामूहिक गीत के जरिए युवाओं ने विरोध प्रदर्शन किया. दूसरे चरण में 30 अगस्त को जिलाधिकारी वंदना सिंह के माध्यम से मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने घोटाले की सीबीआई जांच कराने के लिए एक ज्ञापन सौंपा, जबकि तीसरे और अंतिम चरण में 31 अगस्त को मुख्यमंत्री कार्यालय में गए. मगर ऐसा लगता है की युवाओ को कानून पर भरोसा नहीं रह गया है जिसके चलते अब युवाओ ने न्याय के देवता कहे जाने वाले गोलू देवता के दरवाजे पर अर्जी लगाई है ।

 

आपको बता दे की एक युवक ने गोलू देवता मंदिर में न्याय की गुहार लगाते हुए गोलू देवता के नाम एक पत्र लिखा है, जो कुमाऊंनी भाषा में लिखा गया  हैं। इस आवेदन में लिखा है कि गरीब बेरोजगार छात्रों की सुनने वाला कोई नहीं है। 'हे गोलज्यू! अब तुमि न्या करिया, यो घोटाला में जदु मैंस शामिल छन उननकैं तुम दंड दिया..', देवभूमि को बर्बाद करने वालों की गणना करें'। छात्रों का कहना है कि जो परीक्षाएं रद्द कर दी गई हैं, उन्हें जल्द से जल्द कराया जाए और दोषियों को निष्पक्ष जांच कराकर कड़ी से कड़ी सजा दी जाए. अभियोजकों को आयु सीमा में छूट दी जानी चाहिए। आपको बता दे एसटीएफ की टीम अब तक परीक्षा में धांधली के आरोप में 32 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है.