माता-पिता रात में अपने बच्चों को समुन्द्र तटों पर क्यों भेजते है: गोवा सीएम प्रमोद सावंत

गोवा में हुए हाल ही दो नाबालिग लड़कियों के साथ हुए रेप पर गोवा के सीएम प्रमोद सावंत ने अजीब तरह की प्रतिक्रिया दी है

माता-पिता रात में अपने बच्चों को समुन्द्र तटों पर क्यों भेजते है: गोवा सीएम प्रमोद सावंत

गोवा में हुए हाल ही दो नाबालिग लड़कियों के साथ हुए रेप पर गोवा के सीएम प्रमोद सावंत ने अजीब तरह की प्रतिक्रिया दी है। प्रमोद सावंत ने रेप की घटना पर कहा है की माता-पिता को इस बात पर आत्मनिरीक्षण करने की जरूरत है की उनके बच्चे अंधेरा होने के बाद रात में समुन्द्र तटों पर क्यों घुमते है। 

मुख्‍यमंत्री प्रमोद सावंत बुधवार को विधानसभा में विपक्षी दल के विधायकों की ओर से उनपर लगाए गए आरोपों का जवाब दे रहे थे। विधायकों ने 24 जुलाई की रात को दक्षिण गोवा के लोकप्रिय कोलवा बीच पर दो नाबालिग लड़कियों के साथ कथित रूप से रेप की घटना के बाद गोवा में कानून-व्यवस्था की स्थिति खराब होने का आरोप लगाया था। 

सीएम प्रमोद सावंत ने कहा, ‘दस बच्‍चे बीच पर पार्टी करने जाते हैं. 10 में से 6 घर लौटते हैं। बचे हुए दो लड़के और दो लड़कियां पूरी रात में बीच पर ही रुकते हैं। जब 14 साल की लड़की बीच पर रात बिताती है तो माता-पिता को भी आत्मनिरीक्षण करना होता है। उन्हें भी इसका ध्यान रखना चाहिए.’

उन्‍होंने यह भी कहा, ‘यह हमारी भी जिम्‍मेदारी है। क्‍योंकि बच्‍चे अपने माता-पिता की नहीं सुनते तो हम सारी जिम्‍मेदारी पुलिस पर नहीं डाल सकते.’ विपक्ष ने रेप पर सीएम के बयान का भी विरोध किया है। पूर्व डिप्‍टी सीएम विजय सरदेसाई ने कहा है कि गोवा की ऐसी ब्रांड इमेज है कि यहां कोई भी देर रात तक सुरक्षित महसूस करते हुए घूम सकता है। 

गोवा फॉरवर्ड पार्टी की विधयक विजय सरदेसाई ने खा की यह  घृणित है की सीएम इस तरह के बयान दे रहे है। नागरिकों की सुरक्षा पुलिस और राज्य सरकार की जिम्मेदारी है। अगर वे हमें सुरक्षा प्रदान नहीं कर सकते है तो सीएम को पद पर बैठने का कोई अधिकार नहीं है।