खस्ताहाल सड़क पर फंसी बरात, दुल्हे ने धरने पर बैठकर जताया गुस्सा

हल्द्वानी के काठगोदाम स्थित हैडाखान मार्ग पिछले 1 महीने से बंद है। लिहाजा 120 गांव का संपर्क कटा हुआ है।

खस्ताहाल सड़क पर फंसी बरात, दुल्हे ने धरने पर बैठकर जताया गुस्सा
आपने अक्सर शादी वाले दिन दुल्हे को रस्मो रिवाजे करते हुए और शादी का आनंद लेते हुए देखा होगा मगर क्या आपने कभी दुल्हे को शादी वाले दिन धरना प्रदार्शन करते हुए देखा है वो भी दहेज़ के लिए नहीं बल्कि इसलिए की उसकी नई नवेली दुल्हन को पैदल विदा होकर आना पड़ेगा जी हा दरसल उत्तराखंड के हल्द्वानी में हैड़ाखान मार्ग पर रास्ता खराब  होने के कारण एक बरात की बस जाम में फंस गई जिसके बाद बारातियों ने बस को निकालने की बहुत कोशिश की मगर जब बस नही निकली तो सारे बाराती पैदल ही दुल्हन को विदा कराने निकल पड़े.


इस दौरान पैदल निकले दूल्हे ने देखा कि नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य व कांग्रेस के नवनिर्वाचित जिला अध्यक्ष राहुल छिमवाल समेत कई कांग्रेसी नेता इस खराब पड़े मार्ग को बनवाने के लिए धरना प्रदर्शन कर रहे थे। बस फिर क्या था दूल्हा राहुल भी कांग्रेसी नेताओ के साथ धरना प्रदार्शन में शामिल हो गया. 


हल्द्वानी के काठगोदाम स्थित हैडाखान मार्ग पिछले 1 महीने से बंद है। लिहाजा 120 गांव का संपर्क कटा हुआ है। नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य भूस्खलन से बंद क्षेत्र में पहुंचे।  जहां उन्होंने सांकेतिक उपवास रखा। इस दौरान बड़ी संख्या में कांग्रेस नेता और स्थानीय लोग भी धरना स्थल पर पहुंचे और जल्द से जल्द काठगोदाम - हैड़ाखान- सिमलिया बैंड मोटर मार्ग को खोलने की मांग करने लगे। इस बीच वहां से गुजर रही बारात का दूल्हा भी कांग्रेस के धरने को समर्थन देने के लिए धरना स्थल पर आ पहुंचा। सड़क मार्ग बंद होने से पैदल जा रही बारात का दूल्हा भी जल्द से जल्द सड़क खोले जाने की मांग करने लगा।


नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य ने कहा कि इस सड़क का निर्माण कांग्रेस कार्यकाल में ही हुआ है। और आज यहां की जनता का दुर्भाग्य है कि 1 महीने से भूस्खलन की वजह से मार्ग बंद है। 120 गांवों के सामने स्वास्थ्य एवं खाद्यान्न का संकट आ गया है। गांव से मंडी तक जाने वाली सब्जियां फल सड़ रहे हैं और सरकार सो रही है उन्होंने कहा कि आखिर सरकार वैकल्पिक मार्ग बनाने में भी नाकाम रही है। अगर जल्द से जल्द इस मार्ग को नहीं खोला गया तो ग्रामीणों के साथ मिलकर कांग्रेस और उग्र आंदोलन करेगी।