गर्मी बढ़ते ही बढ़ा जल संकट 808 मोहल्लों व बस्तियों में पेयजल आपूर्ति ठप

पेयजल विभाग ने पेयजल निगम एवं जल संस्थान के माध्यम से वैकल्पिक व्यवस्था को बड़े स्तर पर करने का कार्य तेज कर दिया है

गर्मी बढ़ते ही बढ़ा जल संकट 808 मोहल्लों व बस्तियों में  पेयजल आपूर्ति ठप

गर्मी में प्रदेश के 808 मोहल्लों व बस्तियों में जल संकट पैदा हो गया है। पेयजल विभाग ने पेयजल निगम एवं जल संस्थान के माध्यम से वैकल्पिक व्यवस्था को बड़े स्तर पर करने का कार्य तेज कर दिया है। इसके लिए निगम और जल संस्थान के आला अधिकारियों को नोडल अधिकारी नामित किया गया है। गर्मी बढ़ने के साथ ही पेयजल आपूर्ति ठप होने लगी है। 


कुल 375 पेयजल योजनाएं संकट में हैं। इनमें से 46 शहरी और 329 ग्रामीण इलाकों में हैं। कुल 274 शहरी व 534 ग्रामीण क्षेत्रों में मोहल्लों व बस्तियों के लोग पेयजल के लिए परेशान होने लगे हैं। विभाग ने यहां 71 पानी के टैंकरों के साथ ही किराए पर 208 टैंकरों से पानी की आपूर्ति शुरू कर दी है। पेयजल विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इस गर्मी के मौसम में करीब 103 करोड़ रुपये की लागत से संकट को दूर करने का प्रयास किया जा रहा है। 

इसके लिए 114 जेनरेटर लगाए गए हैं। पिछले डेढ़ माह में 56 नए हैंडपंप लगाने का कार्य जोरों पर चल रहा है, जिसमें शहरी क्षेत्र में 14 और ग्रामीण क्षेत्र में 42 शामिल हैं. इसी तरह 58 हैंडपंपों में खाली पंप लगाकर विभाग द्वारा पेयजल आपूर्ति की जा रही है।