बेटी के जन्मदिन पर देना चाहती थी गोल्डन रिट्रीवर ब्रीड का 'पपी' 63 लाख का चुना लगा बैठी

उत्तराखंड में एक बाद एक साइबर क्राइम थमने का नाम नहीं ले रहे है इसी बीच महिला ने साइबर ठग को जाने पहचाने दे डाले 63 लाख से ज्यादा रकम

बेटी के जन्मदिन पर देना चाहती थी गोल्डन रिट्रीवर ब्रीड का 'पपी' 63 लाख का चुना लगा बैठी

उत्तराखंड में एक बाद एक साइबर क्राइम थमने का नाम नहीं ले रहे है और वही एक बार फिर एक महिला साइबर ठगी का शिकार हो गई। दरसअल महिला अपनी बेटी को उसके जन्मदिन के मौके पर एक गोल्डन रिट्रीवर ब्रीड का 'पपी' गिफ्ट करना चाहती थी लेकिन बेटी को तोहफा तो नहीं खुद को 63 लाख का चुना लगा बैठी। मामला मोथरोवाला का जहां आरती रावत ने ऑनलाइन एक पेट्स सर्विसेज साइट से एक कुत्ते का बच्चा मंगवाया था तय रकम के हिसाब से महिला को ऑनलाइन पंद्रह हजार का भुगतान करना था।

वही बीस दिनों पूर्व एडवांस में पांच हजार में भुगतान करने को कहा बाकी का भुगतान पपी" डिलीवर के बाद इसके बाद एडवांस के तौर पर महिला ने पांच हजार का भुगतान एडवांस में कर दिया। सिर्फ इतना ही नहीं अगले दिन महिला के पास ई-मेल भी गया जिसमे एक लाख तीन हजार की धनराशि जमा करने को कहा साथ यह भी कहा की यह धनराशि बाद में रिफंडेबल हो जाएगी महिला ने कहे अनुसार एक लाख तीन हजार भी ठग के खाते में जमा कर दिया। इसके बाद साइबर ठग ने महिला की बेवकूफी भांपते हुए बार बार कभी एक लाख कभी छः लाख बोल कर महिला से पैसे एहठते रहा। 

इस तरह करते करते महिला में 63 लाख से ज्यादा रकम दे बैठी। यह सिलसिला यही नहीं रुका जुलाई माह में जब साइबर ठग की तरफ से महिला के पास ई-मेल गया की पिल्ला जॉलीग्रांट एयरपोर्ट पर पहुंच गया है डिलीवर होने से पहले पच्चीस लाख की रकम मांगी लेकिन इस बार महिला को कुछ गड़बड़ी लगी जिसके बाद महिला ने  स्थानीय थाने में पहुंच कर शिकयत दर्ज कराई एसएसपी एसटीएफ अजय सिंह ने बताया कि मामले में साइबर थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है।

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया की इसकी जांच की जा रही है। महिला ने कुछ मोबाइल नंबर भी उपलब्ध कराए हैं। सबके बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। एसएसपी एसटीएफ अजय सिंह ने बताया कि मामले में साइबर थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है। इसकी जांच की जा रही है। महिला ने कुछ मोबाइल नंबर भी उपलब्ध कराए हैं। सबके बारे में जानकारी जुटाई जा रही है।