उत्तरकाशी: पर्वतारोही सविता कंसवाल 15 दिनों मकालू पर्वत और माऊंट एवेरेस्ट पर किया फतह

उत्तरकाशी के लोंथरू गांव की रहने वाली पर्वतारोही सविता कंसवाल ने माउंट एवरेस्ट के बाद 15 दिनों के भीतर मकालू पर्वत पर सफलतापूर्वक चढ़ाई कर राष्ट्रीय रिकॉर्ड बना

उत्तरकाशी: पर्वतारोही सविता कंसवाल 15 दिनों मकालू पर्वत और माऊंट एवेरेस्ट पर  किया फतह
उत्तरकाशी के लोंथरू गांव की रहने वाली पर्वतारोही सविता कंसवाल ने माउंट एवरेस्ट के बाद 15 दिनों के भीतर मकालू पर्वत पर सफलतापूर्वक चढ़ाई कर राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया है। इनकी सफलता से क्षेत्र में खुशी की लहर है। सविता कंसवाल ने 12 मई को दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट (8848.86 मीटर) पर तिरंगा फहराया। उनके कदम यहीं नहीं रुके। इसके बाद उन्होंने मकालू पर्वत (8463 मीटर) पर चढ़ाई की। उन्होंने 15 दिनों के भीतर दोनों पहाड़ों पर चढ़कर एक नया राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया। 

चार बहनों में सबसे छोटी सविता (25) का जीवन उथल-पुथल भरा रहा है। एक सरकारी स्कूल से पढ़ाई की, सविता ने 2013 में नेहरू पर्वतारोहण संस्थान (NIM) उत्तरकाशी से पर्वतारोहण में एक बुनियादी पाठ्यक्रम किया। सविता ने एडवांस और सर्च एंड रेस्क्यू कोर्स के साथ माउंटेनियरिंग इंस्ट्रक्टर कोर्स भी किया। सविता नेहरू पर्वतारोहण संस्थान की कुशल प्रशिक्षक भी हैं। सविता की सफलता पर एनआईएम के प्राचार्य कर्नल अमित बिष्ट, पर्वतारोही विष्णु सेमवाल, पर्वतारोहण संघ के अध्यक्ष जयेंद्र राणा, होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष शैलेंद्र मटुडा, अजय पुरी, शैलेंद्र नौटियाल, माधव जोशी आदि ने खुशी जताई है। 

त्रिशूल पर्वत (7120 मीटर)
हनुमान टिब्बा (5930 मीटर)
कोलाहाई (5400 मीटर)
द्रौपदी का डंडा (5680 मीटर)
तुलियान चोटी (5500 मीटर)
दुनिया की चौथी सबसे ऊंची चोटी माउंट ल्होत्से (8516 मीटर) पर सफलतापूर्वक चढ़ाई की है।