सरेंडर और हिल एंडोर्समेंट नियमावली पर विचार करेगी उत्तराखंड सरकार

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उत्तराखंड सरकार वाहनों की सरेंडर नियमावली और हिल एंडोर्समेंट नियमावली के मानकों को बदलने पर विचार करेगी

सरेंडर और हिल एंडोर्समेंट नियमावली पर विचार करेगी उत्तराखंड सरकार

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उत्तराखंड सरकार वाहनों की सरेंडर नियमावली और हिल एंडोर्समेंट नियमावली के मानकों को बदलने पर विचार करेगी। उन्होंने कहा कि सरकार का प्रयास है कि कोरोना से प्रभावित हर वर्ग व हर व्यवसाय से जुड़े व्यक्तियों को राहत पहुंचाई जा सके। रविवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मुख्यमंत्री आवास स्थित जनता दर्शन हाल में कोरोना से प्रभावित परिवहन व्यवसाय से जुड़े चालकों, परिचालकों व क्लीनर को दी जाने वाली आर्थिक सहायता योजना की शुरुआत की। 

मिलेगा हर माह दो हजार रुपए 

इस योजना के तहत प्रदेश के एक लाख से अधिक परिचालक, चालक, व क्लीनर को दो हजार रुपये प्रतिमाह की दर से छह माह तक आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के कारण सरकार का राजस्व प्रभावित हुआ है लेकिन सरकार फिर भी जनता के साझीदार के रूप में काम कर रही है। सरकार की ओर से चारधाम यात्रा के लिए सभी व्यवस्था की जा रही हैं। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए परिवहन मंत्री यशपाल आर्य ने परिवहन व्यवसायियों को दिए जा रहे आर्थिक पैकेज के लिए मुख्यमंत्री का आभार जताया। 


विभाग ने बनाया है ऑनलाइन पोर्टल 

उन्होंने कहा कि कोरोनाकाल में आर्थिक गतिविधियों पर काफी प्रभाव पड़ा है। सरकार ने सीमित संसाधनों के बावजूद परिवहन क्षेत्र के व्यवसायियों के हित में यह निर्णय लिया। इससे पूर्व कार्यक्रम की जानकारी देते हुए सचिव रणजीत सिन्हा ने बताया कि इस योजना के तहत प्रथम चरण में 36100 परिवहन व्यवसायियों को डीबीटी के माध्यम से सहायता दी जाएगी। इनमें 34635 चालक, 930 परिचालक और 535 क्लीनर शामिल हैं। इस योजना के लिए विभाग ने आनलाइन पोर्टल बनाया है। पोर्टल पर प्राप्त आवेदनों का विभागीय सत्यापन करने के बाद पात्र अभ्यर्थियों की सूची तैयार की गई है। कार्यक्रम में आयुक्त परिवहन दीपेंद्र चौधरी, उप परिवहन आयुक्त एसके सिंह, सुधांशु गर्ग, आरटीओ देहरादून डीके पठोई व संदीप सैनी के अलावा विभिन्न व्यावसायिक वाहन यूनियनों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।