उत्तराखंड की बेटी ने सबसे ऊंची चोटी की फ़तेह, माउंट एलब्रुस पर फेहराया तिरंगा

उत्तराखंड की बेटी ने स्वतंत्रता दिवस पर यूरोप की सबसे ऊंची चोटी माउंट एलब्रुस (5642 मीटर) पर तिरंगा फहराकर देश को गौरवान्वित किया है।

उत्तराखंड की बेटी ने सबसे ऊंची चोटी की फ़तेह, माउंट एलब्रुस पर फेहराया तिरंगा

उत्तराखंड की बेटी ने स्वतंत्रता दिवस पर यूरोप की सबसे ऊंची चोटी माउंट एलब्रुस (5642 मीटर) पर तिरंगा फहराकर देश को गौरवान्वित किया है। उत्तराखंड के पिथौरागढ़ के सल्मोड़ा निवासी पर्वतारोही शीतल पच्चीस वर्षीय है। वह कुमाऊं मंडल विकास निगम मुख्यालय के साहसिक खेल विभाग में कार्यरत है। हालाकिं यह उन्होंने यह कमाल तब उस दिन किया जिस दिन पुरे भारत में 75वें स्वतंत्रता दिवस का जश्न मना रहे थे। इस अभियान दल में क्लाइम्बिंग बियोंड द समिट्स (सीबीटीएस) के चार और सदस्य भी शामिल थे।


15 अगस्त को करीब एक बजे एलब्रुस चोटी पर तिरंगा फहराकर आजादी का जश्न मनाया। 48 घंटे में बैस कैंप से आरोहण करना मुश्किल था बहुत कम पर्वतारोही ही ऐसा कर पाते हैं। एलब्रुस जाने से पहले टीम ने उत्तराखंड के हिमालयी क्षेत्र में पर्याप्त ट्रेनिंग की थी और इसी का नतीजा था की टीम रिकॉर्ड समय पर आरोहण कर पाई। शीतल कंचनजंघा और अन्नपूर्णा चोटी को फतह करने वाली सबसे कम उम्र की पर्वतारोही बन चुकी है। 

एवरेस्ट विजेता और सीबीटीएस के संस्थापक योगेश गर्ब्याल ने बताया कि शीतल चाहती थी कि स्वतंत्रता दिवस के दिन माउंट एलब्रुस को फतह किया जाए। वहीं, शीतल ने बताया कि 15 अगस्त को आरोहण करने के उद्देश्य से टीम ने प्लान किया था। कोविड महामारी के कारण फ्लाइट रद्द होने के कारण टीम तीन दिन देरी से मास्को पहुंची। 13 अगस्त को 3600 मीटर पर अपना बैस कैंप बनाया। 14 अगस्त की रात को वह चढ़ाई के लिए निकले।


बेहद गरीब परिवार से है शीतल 

योगेश गर्ब्याल ने बताया कि पिथौरागढ़ निवासी शीतल बेहद गरीब परिवार से हैं। शीतल के पिता पिथौरागढ़ में लोकल टैक्सी चलाकर परिवार का पेट पालते है। इस साल शीतल को ‘द हंस फाउंडेशन’ ने चोटी अन्नपूर्णा के लिए स्पांसर किया था। बताया कि भविष्य में शीतल आठ हजार मीटर से अधिक 14 सबसे ऊंची और दुनिया के सातों महाद्वीपों की ऊंची चोटियों पर तिरंगा फहराना चाहतीं हैं। शीतल एवरेस्ट, कंचनजंगा और अन्नपूर्णा जैसे दुर्गम पर्वतों को फतह कर चुकीं हैं।

केएमवीएन अधिकारियों ने जताई खुशी

(केएमवीएन) कुमाऊं मंडल विकास निगम में कार्यरत शीतल की इस फतह से नैनीताल जिला प्रशासन और निगम के अधिकारी बेहद खुश है। डीएम धीराज सिंह गर्ब्याल, केएमवीएन के एमडी नरेंद्र सिंह भंडारी, महाप्रबंधक एपी वाजपेयी, एडीएम अशोक जोशी, कुमाऊं गढ़वाल कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष दिनेश और गुरुरानी ने शीतल की उपलब्धि पर खुशी जताई है। शीतल की इस सफलता पर रं कल्याण संस्था के मुख्य संरक्षक नृप सिंह नपलच्याल और केंद्रीय अध्यक्ष बिशन सिंह बोनाल आदि लोगों ने खुशी जताई है।