उत्तराखंड: चारधाम यात्रा से हटी रोक, कोरोना नियमों के तहत होगी यात्रा

उत्तराखंड हाई कोर्ट ने चारधाम यात्रा पर लगी रोक को हटा दिया है हाई कोर्ट का आदेश है की चारधाम यात्रा कोविड नियमों के अनुसार ही प्रारम्भ होगी

उत्तराखंड: चारधाम यात्रा से हटी रोक, कोरोना नियमों के तहत होगी यात्रा

उत्तराखंड हाई कोर्ट ने चारधाम यात्रा पर लगी रोक को हटा दिया है हाई कोर्ट का आदेश है की चारधाम यात्रा कोविड नियमों के अनुसार ही प्रारम्भ होगी। कोर्ट में सुनवाई के दौरान सरकार महा अधिवक्ता ने कहा की कोरोना अब उत्तराखंड में नियंत्रित है लेकिन यात्रा कोरोना एसओपी के तहत शुरू की जाएगी।  

इस फैसला पर निर्णय लेते हुए कहा की बद्रीधाम यात्रा में 1200 यात्री, यमनोत्री में 400 यात्री, केदारनाथ के लिए 800 यात्री, गंगोत्री के लिए 600  यात्री प्रतिदिन जाएंगे। इसी के साथ प्रत्येक यात्री को कोविड की निगेटिव रिपोर्ट लाना अनिवार्य होगा। यात्रा के दौरान चमोली, रुद्रप्रयाग, उत्तरकाशी समेत जिलों में पुलिस फ़ोर्स तैनात रहेगी। कोरोना में सावधानी बरतते हुए कोर्ट का आदेश है की चारधाम यात्रा के दौरान किसी भी कुंड में स्नान करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। 


कोरोना के चलते 26 जून से चारधाम यात्रा पर प्रतिबन्ध था। वही उत्तराखंड सरकार ने इस आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में एसएलपी (विशेष अनुमति) दायर की थी लेकिन कुछ दिनों बाद सरकार ने एसएलपी वापस ले ली थी। इसके बाद सरकार ने कोर्ट में चारधाम यात्रा पर प्रार्थना पत्र देकर रोक हटाने के लिए कहा था जिसके बाद कुछ याचिकाकर्ताओं ने बाहरी राज्य से आ रहे लोगों के लिए कोरोना जाँच के लिए निर्देश दिए थे।