उत्तरप्रदेश: पुलिस कर्मियों को योगी की सलाह: मीडिया ट्रायल से बचने के लिए सही तथ्य पेश करें

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को पुलिस कर्मियों को अपराध स्थलों का दौरा करने के बाद सही तथ्य और जानकारी देने की सलाह दी

उत्तरप्रदेश: पुलिस कर्मियों को योगी की सलाह: मीडिया ट्रायल से बचने के लिए सही तथ्य पेश करें

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को पुलिस कर्मियों को अपराध स्थलों का दौरा करने के बाद सही तथ्य और जानकारी देने की सलाह दी ताकि मीडिया ट्रायल से बचा जा सके। सीएम का यह बयान ऐसे समय में आया है जब हाल ही में गोरखपुर में होटल के कमरों की चेकिंग के दौरान कानपुर के एक व्यवसायी मनीष गुप्ता की कथित तौर पर पुलिस की सख्ती के कारण हुई मौत पर राज्य पुलिस बल काफी भड़क रहा है। उन्होंने 'पुलिस अलंकरण दिवस' के दौरान कहा पिछले साढ़े चार साल में पुलिस ने कई अच्छे काम किए हैं लेकिन एक गलती सब कुछ मिटा देती है। 


असंवेदनशीलता के कारण करना पड़ती है शर्मिंदगी 

जनता को हीरो का विलेन बनाने में ज्यादा समय नहीं लगता है। इस गलती को बेहतर संचार से ही ठीक किया जा सकता है और वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को जनता और मीडिया के साथ बेहतर संचार बनाए रखने की जिम्मेदारी लेनी चाहिए। सीएम ने कहा कि संकट में व्यक्ति पहले पुलिस के पास जाता है और पीड़ितों के प्रति उनके गलत व्यवहार और असंवेदनशीलता के कारण पूरी सरकारी मशीनरी को शर्मिंदगी का सामना करना पड़ता है। इसलिए यह सुनिश्चित करने के प्रयास किए जाने चाहिए कि पुलिस के प्रति लोगों का विश्वास और मजबूत हो।  


50,000 पुलिस कर्मियों को प्रशिक्षित किया

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि कोई भी जनता या वरिष्ठ अधिकारियों को केवल कुछ समय के लिए मूर्ख बना सकता है लेकिन सच्चाई तब सामने आती है जब अधिकारी जनता दर्शन के दौरान मिलते हैं। उन्होंने कहा, "विभिन्न जिलों में जो कुछ भी हो रहा है वह जनता दर्शन के दौरान खुलकर सामने आता है। सीएम ने आगे कहा कि आज हर पुलिस रेंज में साइबर पुलिस स्टेशन हैं और बड़े स्तर पर साइबर अपराध से निपटने के लिए 50,000 पुलिस कर्मियों को प्रशिक्षित किया गया है। इससे पहले गुरुवार को भी मुख्यमंत्री ने चेतावनी दी थी कि पुलिस कर्मियों द्वारा किसी भी तरह की अवैध गतिविधियों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और जो लोग "बहुत गंभीर अपराधों" में शामिल पाए जाते हैं, उन्हें बर्खास्त कर दिया जाएगा। 

फील्ड पोस्टिंग नहीं दी जानी चाहिए

उन्होंने यह भी कहा था कि किसी भी दागी पुलिस अधिकारी और कर्मियों को कोई महत्वपूर्ण फील्ड पोस्टिंग नहीं दी जानी चाहिए। मुख्यमंत्री ने यूपी पुलिस मानव सम्बदा पोर्टल का भी उद्घाटन किया, जिसमें पुलिस कर्मियों की नियुक्ति, पदोन्नति और काम की सभी जानकारी होगी। पोर्टल को यूपी टेक्निकल सर्विसेज द्वारा डिजाइन किया गया है। इस अवसर पर सीएम ने 75 पुलिस अधिकारियों और कर्मियों को वीरता और मेधावी सेवाओं के लिए पदक भी प्रदान किए। इससे पहले मुख्यमंत्री ने महात्मा गांधी और लाल बहादुर शास्त्री को उनकी जयंती पर भी श्रद्धांजलि दी।