यूपी: मथुरा, काशी में मंदिरों का निर्माण होना भाजपा के लिए चुनावी मुद्दा नहीं: उपमुख्यमंत्री

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने गुरुवार को स्पष्ट किया कि अयोध्या, वाराणसी और मथुरा में मंदिरों का निर्माण भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के लिए चुनावी मुद्दा नहीं है

यूपी: मथुरा, काशी में मंदिरों का निर्माण होना भाजपा के लिए चुनावी मुद्दा नहीं: उपमुख्यमंत्री

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने गुरुवार को स्पष्ट किया कि अयोध्या, वाराणसी और मथुरा में मंदिरों का निर्माण भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के लिए चुनावी मुद्दा नहीं है। इस हफ्ते की शुरुआत में मौर्य ने कहा था कि अब जब सरकार ने अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण शुरू कर दिया है, तो काशी और मथुरा अगली कतार में हैं। अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण हो रहा है, वाराणसी में काशी विश्वनाथ कॉरिडोर परियोजना पर काम चल रहा है और अब हम मथुरा में कृष्ण जन्मभूमि पर एक मंदिर के निर्माण की प्रतीक्षा कर रहे हैं। मौर्य ने कहा, भाजपा के लिए ये चुनावी मुद्दे नहीं हैं। 


मथुरा में लगी धारा 144 

अखिल भारत हिंदू महासभा ने पहले शाही ईदगाह पर भगवान कृष्ण की भव्य प्रतिमा स्थापित करने का विरोध करने की धमकी दी थी। मौर्य के काशी और मथुरा में भव्य मंदिरों के निर्माण की घोषणा के ट्वीट के बाद संगठन ने अपनी योजना वापस ले ली। मथुरा के एसपी गौरव ग्रोवर ने कहा था यहां धारा 144 लागू है और अगर किसी भी धर्म या समुदाय का कोई व्यक्ति सोशल मीडिया का इस्तेमाल अफवाह फैलाने या धार्मिक जुनून को भड़काने के लिए करता है, तो हम बहुत सख्त कार्रवाई करेंगे। मौर्य के ट्वीट को विपक्ष उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा द्वारा धार्मिक भावनाओं को चलाने के प्रयास के रूप में देख रहा था। 

मंदिर के बगल बनी मस्जिद को ध्वस्त करना चाहिए 

पिछले साल, मथुरा की एक अदालत ने एक याचिका को खारिज कर दिया था जिसमें मांग की गई थी कि भगवान कृष्ण की जन्मभूमि मानी जाने वाली जगह पर मंदिर के बगल में एक मस्जिद को ध्वस्त कर दिया जाना चाहिए। मथुरा की एक अन्य अदालत ने शाही ईदगाह मस्जिद प्रबंधन समिति और अन्य को नोटिस जारी कर भगवान कृष्ण की जन्मस्थली के पास 17वीं सदी की मस्जिद को हटाने के निर्देश की मांग वाली याचिका पर जवाब मांगा था।