नैनीताल के तालुका गांव से पर्यटक करेंगे ब्रह्मांड दर्शन चल रही तैयारियां

नैनीताल जिले के तालुका गांव में बनने जा रहा है एस्ट्रो विलेज सरकार की ओर से बन रहा है नया पर्यटन स्थल

नैनीताल के तालुका गांव से पर्यटक करेंगे ब्रह्मांड दर्शन चल रही तैयारियां

अक्सर हमसब आसमान में देखते हुए उनके रहस्यों के बारे में सोचते है लेकिन उनके बारे में ज्यादा जान नहीं पाते और इसी जिज्ञास्या को पूरा करने के लिए अब नैनीताल जिले में पर्यटन विभाग बनाया जा रहा है। बहुत जल्द तालुका गांव को एस्ट्रो विलेज के रूप में तब्दील किया जाएगा। इस योजना के तहत ग्रामीणों को नए रोजगार का अवसर भी प्रदान होगा।

हालांकि इस पर्यटन योजना के लिए लगभग सरकार द्वारा 2.46 करोड़ की वित्तीय स्वीकृति दे दी गई है। इस दी गई धनराशि से गांव में होमस्टे भी बनाया जाएगा। जानकारी है की अल्मोड़ा के पत्थरों और स्थानीय लकड़ी का प्रयोग कर गांव में पहाड़ी शैली पर आधारित होमस्टे बनेंगे। इससे स्थानीय हस्तशिल्प को भी प्रोत्साहन मिलेगा। गांव में अत्याधुनिक दूरबीन लगाकर पर्यटकों को ब्रह्मांड दर्शन कराया जाएगा।


गांधी जी ने रखी थी नींव 

वैसे तालुका गांव को गांधी ग्राम भी कहते है क्यूंकि स्वतंत्रा आंदोलन के समय जब महात्मा गांधी कुमाऊं यात्रा पर आए थे तो दो बार वह ताकुला गांव का भ्रमण करने गए थे। इस गांव की नींव भी खुद गांधी जी ने राखी थी। बीते वर्षो में एडीबी की ओर से करोड़ों की लागत से इस एतिहासिक भवन का जीर्णोद्धार किया गया है, मगर अब इस गांव को एक अलग पहचान भी मिलने जा रही है। कुछ माह पूर्व पर्यटन विभाग की ओर से इसे एस्ट्रो विलेज के रूप में विकसित करने का प्रोजेक्ट तैयार किया था। विधायक संजीव आर्य ने बताया कि प्रोजेक्ट के क्रियान्वयन के लिए सरकार ने 2.46 करोड़ की वित्तीय स्वीकृति दे दी है। जल्द प्रोजेक्ट पर कार्य शुरू करवा दिया जाएगा।