पुख्ता रूप से हो जाँच, उत्तराखंड सरकार यूपी पुलिस का करेगी सहयोग, सीबीआई जाँच होनी चाहिए: धामी

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी की मौत के मामले में सरकार हर तरह की जांच को तैयार है।

पुख्ता रूप से हो जाँच, उत्तराखंड सरकार यूपी पुलिस का करेगी सहयोग, सीबीआई जाँच होनी चाहिए: धामी

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी की मौत के मामले में सरकार हर तरह की जांच को तैयार है। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि जरूरत हो तो महंत नरेंद्र गिरी की मौत की सीबीआई जांच भी की जाएगी। वही सीएम धामी ने काह महंत नरेंद्र गिरि महाराज की मृत्यु बेहद दुखद है इसकी जाँच पुख्ता रूप से होनी चाहिए। सीएम धामी ने काह जाँच के लिए यूपी पुलिस को उत्तराखंड सरकार पूरा सहयोग करेगी साथ ही जरूरत पड़ने पर मामले की सीबीआई जाँच होनी चाहिए। 

फिलहाल चारधाम यात्रा को चलने दें

वहीं चारधाम यात्रा शुरू होने के साथ ही जीएमवीएन और केएमवीएन में कर्मचारियों की हड़ताल के सवाल पर मुख्यमंत्री ने अपील की है कि बमुश्किल यात्रा शुरू हुई है। प्रदेश के तमाम लोगों की रोजी रोटी इससे जुड़ी हुई है। लिहाजा, फिलहाल चारधाम यात्रा को चलने दें। सभी शाही स्नान कराने पर अड़ गए थे। कोरोना संक्रमण के साए में हुए महाकुंभ में सभी शाही स्नान कराने पर श्रीमहंत नरेंद्र गिरी अड़ गए थे। उनकी हठ के आगे सरकार की कम स्नान कराने की मंशा पर पानी फिर गया था। महाकुंभ 2021 पर एक साल पहले ही कोरोना का साया मंडराने लगा था। पिछले साल मार्च में कोरोना संक्रमण की पहली लहर के चलते महाकुंभ कराए जाने पर भी संशय खड़े होने लगे थे।

नरेंद्र गिरी ने सरकार की मंशा का विरोध किया था

इस कारण करीब छह माह तक महाकुंभ के सभी निर्माण कार्य भी बंद रहे थे। कोरोना संक्रमण कम होने पर कुंभ का शुभारंभ हो गया था। सरकार की तरफ से महाकुंभ का नोटिफिकेशन एक अप्रैल से किया गया था, लेकिन इससे पहले एक शाही स्नान संतों ने कर लिया था। अप्रैल में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर आने पर सरकार शाही स्नानों की संख्या करने की तैयारी करने लगी थी। लेकिन श्रीमहंत नरेंद्र गिरी ने सरकार की मंशा का विरोध किया था। उन्होंने साफ कहा था कि महाकुंभ में एक भी शाही स्नान कम नहीं होगा। सभी शाही स्नान संपन्न कराए जाएंगे। कोरोना संक्रमण की लहर के बाद भी अप्रैल में पड़ने वाले सभी स्नानों को कराया गया था।