सम्भावना है की नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी संभाल सकते है प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह

देवेंद्र यादव के नेतृत्व में घंटों चली बैठक कयास लगाए जा रहे है की जल्द प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह बनेंगे नेता प्रतिपक्ष

सम्भावना है की नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी संभाल सकते है प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह

उत्तराखंड की सिआसत में चल रही नेता प्रतिपक्ष और नए अध्यक्ष के घमासान के बाद अभी तक तय नहीं हो पाया है की नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी कौन संभालेगा। इसी के चलते यह घमासान पूर्व सीएम हरीश रावत और प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह जारी है। हालाकिं दिनभर विधायकों की प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव एवं सह प्रभारियों के साथ बैठकों का दौर चला। 

अलबत्ता यह तय हो चुका है कि प्रीतम सिंह प्रदेश अध्यक्ष की जगह नेता प्रतिपक्ष का पद संभालेंगे। जातीय और क्षेत्रीय संतुलन को देखते हुए प्रदेश अध्यक्ष पद पर ताजपोशी कुमाऊं मंडल से होगी। इस पद के लिए पूर्व विधायक मनोज तिवारी, हेमेश खर्कवाल, प्रदेश महामंत्री भुवन कापड़ी और पूर्व राष्ट्रीय सचिव प्रकाश जोशी में से किसी एक के नाम पर मुहर लगने की संभावना है। 

प्रदेश में इंदिरा हिर्देश्य की मिर्त्यु के बाद रिक्त हुई उनकी कुर्सी नेता प्रतिपक्ष के चयन की प्रक्रिया ने प्रदेश संगठन के अध्यक्ष पद को भी अपनी चपेट में ले लिया है। हालांकि इस जोरशोर  के चलते दोनों दिग्गज नेताओं पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह के खेमों में पार्टी बंट चुकी है। प्रदेश कांग्रेस विधायक दल की बीती रात हुई बैठक में उक्त दोनों पदों पर फैसला लेने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को सूचित किया जा चूका है। 


सूत्रों के मुताबिक मंगलवार दोपहर विधायकों के साथ बैठक के बाद प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव ने पार्टी हाईकमान को संशोधित प्रस्ताव भी भेजा। दरअसल पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए चुनाव संचालन समिति की कमान सौंपी जानी है। हरीश रावत इस जिम्मेदारी के साथ ही प्रदेश अध्यक्ष उनकी पसंद से तय किए जाने पर जोर दे रहे हैं।