मौसम हुआ साफ़ शुरू हुई चारधाम की यात्रा, रवाना हुए यात्री, चीफ जस्टिस ने लिया बाबा का आशीर्वाद

बुधवार सुबह मौसम साफ होते ही प्रशासन ने केदारनाथ यात्रा शुरू कर दी। यात्रियों को सोनप्रयाग से पैदल ही धाम भेजा गया

मौसम हुआ साफ़ शुरू हुई चारधाम की यात्रा, रवाना हुए यात्री,  चीफ जस्टिस ने लिया बाबा का आशीर्वाद
बुधवार सुबह मौसम साफ होते ही प्रशासन ने केदारनाथ यात्रा शुरू कर दी। यात्रियों को सोनप्रयाग से पैदल ही धाम भेजा गया। इसके साथ ही हेलीकॉप्टर सेवा भी सुचारू हो गई है। यात्रा में नौ कंपनियां हेली सेवा मुहैया करा रही हैं। वहीं सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस भी बाबा केदार के दर्शन करने पहुंचे उन्होंने यहां पूजा-अर्चना की और बाबा केदार का आशीर्वाद लिया। सुबह आठ बजे से यात्रियों को केदारनाथ धाम भेजा जाने लगा। 7220 तीर्थयात्रियों को सोनप्रयाग से केदारनाथ धाम और गौरीकुंड से 7800 के लिए रवाना किया गया। प्रशासन यात्रा स्टॉप पर यात्रियों की नियमित निगरानी कर रहा है। 

इससे पहले मंगलवार को केदारनाथ में सात घंटे तक हुई बर्फबारी और निचले इलाकों में बारिश के कारण यात्रा रोक दी गई थी। इस दौरान धाम में ठहरे यात्रियों को निचले इलाकों में भेजा गया। शाम चार बजे के बाद केदारनाथ में मौसम सुहाना होने पर मंदिर में दर्शन के लिए लाइन लगी रही। उधर, भारी बारिश को देखते हुए प्रशासन ने यमुनोत्री धाम यात्रा को भी रोक दिया था। केदारनाथ यात्रा मंगलवार सुबह छह बजे से शुरू हुई थी। इस दौरान सोनप्रयाग से 6500 श्रद्धालु पैदल ही धाम के लिए निकले। सोनप्रयाग समेत केदारघाटी में बारिश शुरू हो गई लेकिन सुबह 8 बजे 7810 और रात 9.30 बजे तक 10470 तीर्थयात्री धाम के लिए निकल चुके थे। इसके बाद भारी बारिश के कारण सोनप्रयाग में यात्रा रोक दी गई। 

उधर, उत्तरकाशी में भारी बारिश को देखते हुए प्रशासन ने यमुनोत्री धाम यात्रा को रोक दिया था। प्रशासन ने 12:30 बजे के बाद ही जानकीचट्टी पर तीर्थयात्रियों को रोका। एसडीएम बरकोट शालिनी नेगी ने बताया कि यात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए यमुनोत्री धाम के तीर्थयात्रियों को जानकीचट्टी पर रोक दिया गया। मौसम साफ होते ही केदारनाथ व यमुनोत्री धाम के लिए रवाना हुए मुख्य न्यायाधीश केदारनाथ व यमुनोत्री धाम पहुंचे बाबा केदार के दर्शन कर पाया आशीर्वाद