हड़ताली इंटर्न्स को लेकर कोर्ट का दखल कहा मांग अनुसार रकम भी बढ़ाई जा सकती है

पिछले कई महीनों से उत्तराखंड के तीन राज्यों के मेडिकल इंटर्न्स अपनी स्टाइपेंड' को लेकर हड़ताल कर रहे हैं जिसके चलते अब उत्तराखंड हाई कोर्ट ने इस बारे में रुख किया है

हड़ताली इंटर्न्स को लेकर कोर्ट का दखल कहा मांग अनुसार रकम भी बढ़ाई जा सकती है

पिछले कई महीनों से उत्तराखंड में देहरादून, हल्द्वानी और श्रीनगर में स्थित तीन मेडिकल कॉलेजों के 330 इंटर्न हड़ताल कर रहे हैं. जिसका संज्ञान लेते हुए उत्तरखंड हाई कोर्ट ने रुख अपनाया है. वहीं इस मुद्दे को लेकर हाई कोर्ट जल्द विचार करेगी. वही कोर्ट की तरफ से सम्भावना है की मांग अनुसार रकम भी बढ़ाई जा सकती है. 


दरसअल इन इंटर्न्स का कहना है की उनको अपनी इंटर्न्स में महीने के अंत में केवल साढ़े सात सौ  रुपये मिलते है इतना कम तो किसी मजदूर को भी नहीं मिलता है यहां तक इतना कम देश के किसी राज्य में नहीं मिलता है.'वन नेशन वन स्टाइपेंड' की मांग करते हुए इंटर्नों ने तत्काल प्रभाव से 23,500 रुपये स्टाइपेंड निश्चित करने की मांग की है. साथ ही अपनी मांग को लेकर मेडिकल इंटर्न्स हड़ताल पर अड़े हुए है.


कोर्ट ने कहा है की अन्य राज्यों के मुकाबले उत्तराखंड में इंटर्न्स को बेहद कम 'स्टाइपेंड' मिल रहा है राज्य सरकार को इस बारे में गंभीरता से फैसला करना चाहिए. वही ख़बरों के मुताबिक हड़ताल कर रहे इंटर्न्स का कहना है की कोर्ट के दखल के बाद भी सरकार ने इस पर अब तक किसी तरह का विचार नहीं किया है. गौरतलब है कि इससे पहले विरोध प्रदर्शन के दौरान ये इंटर्न डॉक्टर श्रीनगर में सड़क पर झाड़ू लगाते और फास्ट फूड बेचते हुए दिखाई दिए थे.