पेपर लीक मामले में एसटीएफ की क्लोजर रिपोर्ट से तय होगा बच्चो का भविष्य

उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की जिन भर्ती परीक्षाओं के पेपर लीक हो गए हैं.

पेपर लीक मामले में  एसटीएफ की क्लोजर रिपोर्ट से तय होगा बच्चो का भविष्य

उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की जिन भर्ती परीक्षाओं के पेपर लीक हो गए हैं, उनका भविष्य अभी अधर में है। एसटीएफ की जांच चल रही है। जांच पूरी होने तक आयोग कोई फैसला नहीं ले सकता। पेपर लीक के दायरे से ही यह तय होगा कि इन भर्तियों को रद्द किया जाएगा या नहीं।

 

आयोग ने पिछले साल 4 और 5 दिसंबर को 13 विभागों में 916 पदों पर भर्ती के लिए परीक्षा आयोजित की थी। आयोग ने अपना रिजल्ट जारी करने के बाद चयनित अभ्यर्थियों के प्रमाणपत्रों का सत्यापन भी किया था. विभागों को फाइनल सिलेक्शन लिस्ट भेजे जाने से पहले ही पेपर लीक होने की खबरें आ गईं। तब से यह भर्ती लंबित है। इसी तरह सचिवालय सुरक्षा संवर्ग गार्ड भर्ती, वन निरीक्षक ऑनलाइन भर्ती का भी भविष्य अंधकार में है।

 

अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के अध्यक्ष जीएस मर्तोलिया का कहना है कि चूंकि एसटीएफ की जांच चल रही है। एसटीएफ ने क्लोजर रिपोर्ट कोर्ट को नहीं सौंपी है। एसटीएफ की रिपोर्ट के आधार पर तय होगा कि परीक्षाओं में पेपर लीक का स्तर क्या था। आयोग उसी के आधार पर फैसला लेगा। फिलहाल इन भर्तियों में शामिल युवाओं को फैसले का इंतजार है।