योजना का उद्देश्य लैंगिक असमानता को दूर करने के साथ बालिकाओं को आत्मनिर्भर है बनाना -रेखा आर्या

आज मुख्य सेवक सदन मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय में नंदा गौरा योजना का कार्यक्रम आयोजित किया गया.

योजना का उद्देश्य लैंगिक असमानता को दूर करने के साथ बालिकाओं को आत्मनिर्भर है बनाना -रेखा आर्या

आज मुख्य सेवक सदन मुख्यमंत्री कैम्प कार्यालय में नंदा गौरा योजना का कार्यक्रम आयोजित किया गया. कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और विसिष्ठ अतिथि के रूप में महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्या ने शिरकत की. कार्यक्रम का सुभारम्भ दीप प्रज्ज्वलन के साथ किया गया.

 

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए महिला एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्या ने सर्वप्रथम सभी को शारदीय नवरात्री की शुभकामनायें दी. इस अवसर पर उन्होंने कहा की आज का दिन विशेष है की आज हम अपनी बालिकाओं को नंदा गौरा योजना से लाभान्वित कर रहे हैँ. उन्होंने कहा की आज माननीय मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के कर कमलों द्वारा नंदा गौरा योजना के अंतर्गत 80 हजार लाभार्थी बालिकाओं को PFMS के माध्यम से ₹ 323 करोड़ की धनराशि का डिजिटल हस्तांतरण किया गया है.

 

कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या ने कहा की इस योजना का उद्देश्य कन्या भ्रूण हत्या पर रोक लगाना, बाल विवाह रोकना, समाज में लैंगिक असमानता को दूर करने के साथ बालिकाओं को उच्च शिक्षा प्रदान कर आत्मनिर्भर बनाना है.इस योजना के अंतर्गत बालिका के जन्म पर ₹ 11हजार की धनराशि प्रोत्साहन के रूप में दी जाती है साथ ही कक्षा 12 वीं पास पर ₹ 51 हजार का लाभ प्रदान किया जाता है.

 

बेटियों को दे सही शिक्षा और संस्कार -रेखा आर्या

उन्होंने कहा की हमें समाज में बेटियों को सही शिक्षा,संस्कार और आजादी देनी चाहिए. बालिकाओं से आग्रह करते हुए मंत्री रेखा आर्या ने कहा की आपको अपने जीवन में एक उद्देश्य निर्धारित करना चाहिए और उस लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में कार्य करना चाहिए. अगर लक्ष्य निर्धारित कर दिया जाये तो उसे अवश्य पूर्ण किया जा सकता है. उन्होंने कहा की यह सदी बेटियों की है आज हमारी बेटियां जल, थल और नभ में अपना परचम लहरा रहीं हैं. साथ ही कहा की अगर हम सभी माता -पिता अपनी बेटियों को उनके लक्ष्य के प्रति प्रेरित करें तो निश्चित ही आने वाला समय हमारी बेटियों का होगा.

अंकिता भंडारी मामले पर सरकार ने दिखाई गंभीरता, घटनाक्रम से हर कोई है व्यथित-रेखा आर्य

अंकिता भंडारी घटनाक्रम पर बात करते हुए महिला एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्या ने कहा की निश्चित ही यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण है. ऐसी घटना को अंजाम देने वाले दोषियों के खिलाफ सरकार ने त्वरित कारवाही करते हुए उन्हें गिरफ्तार किया और आज अपराधी सलाखों के पीछे हैं. उन्होंने कहा की सरकार ने मामले की गंभीरता को समझते हुए इसके लिए फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट के गठन के साथ ही SIT गठित की है ताकि दोषियों को कठोर से कठोरतम सजा मिले. कैबिनेट मंत्री ने साथ ही कहा की उनकी संवेदनाएं व सहानुभूति परिवार के प्रति हैं.

बेटियां हैं हमारी मान, सम्मान और अभिमान-पुष्कर सिंह धामी

 

वहीँ कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में सम्मलित हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इस अवसर पर सभी लाभान्वित बालिकाओं को शुभकामनायें प्रेषित की और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की. मुख्यमंत्री ने कहा की उत्तराखंड की यह धरती नंदा-गौरा की धरती है. उनकी सरकार ने यह संकल्प लिया है की हमारी बेटियां किसी भी क्षेत्र में पीछे ना रहे, बेटियों के संकल्प को पूरा करने के लिए हम सभी ने यह प्रयास करना है. उन्होंने कहा की हम सब अपने जीवन में जो भी संकल्प ले उसमे कोई विकल्प ना हो. मुख्यमंत्री ने इस दौरान कहा की हमें अपनी शक्तियों को पहचानने की आवश्यकता है. मनुष्य के पास अनंत शक्ति व ऊर्जा का भंडार उपलब्ध है.

 

अंकिता भंडारी प्रकरण पर बोलते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जी ने कहा की इस मामले पर हमारी सरकार संवेदनशील और मामले की गंभीरता को देखते हुए ही हमने फ़ास्ट ट्रैक कोर्ट और SIT के गठन का तुरंत निर्णय लिया. जिस स्थान पर यह घटना घटित हुई हमने उस रिसोर्ट को ध्वस्त करने के साथ ही प्रदेश में संचालित ऐसे अवैध निर्माण के  ध्वस्तीकरण के निर्देश भी दिए हैं. उन्होंने कहा की बेटियां हमारा मान, सम्मान और अभिमान है और ऐसी घटना को अंजाम देने वाले दोषियों के खिलाफ हम ऐसी कारवाही करेंगे जो समाज में नजीर बनेगी.