धारचूला में तपोवन वह जुम्मा में भारी तबाही बादल फटा, मकान हुए ध्वस्त, लोगों ने बचाई जान

प्रकृति ने धारचूला में दिखाया रौद्र रूप रात करीब दो बजे बदाल फटने से मची तबाही मकान हुए धराशयी पांच लोग मलबे दब हुए बुरी तरह से हुए घायल

धारचूला में तपोवन वह जुम्मा में भारी तबाही बादल फटा, मकान हुए ध्वस्त, लोगों ने बचाई जान

मूसलाधार बारिश और रोजाना होने वाली आपदा उत्तराखंड वासियों की लिए किसी बवाल से कम नहीं है शायद यहाँ के वासी इन आपदाओं के चपेट में आते-आते थक चुके है लेकिन प्रकृति अपना विकराल रूप दिखाने से बाज नहीं है आ रही है। वही उत्तराखंड के धारचूला तहसील के अंतर्गत कल रात से ही बारिश हो रही थी रात करीब दो बजे के आसपास सिरीबगड नेपाल में बादल फटने से सारा नाला एन एच पीसी परिसर तपोवन में घुस गया दो भवन पुर्ण रुप से धराशयी हो गए तपोवन में लोगों ने जैसे तैसे जान बचाई है। वही आलम इतना बुरा था की लोगों के गले तक पानी का स्तर पहुंच गए था। महाप्रबंधक एच आर, मुख्य महाप्रबंधक पी वी मिल्ख ने बताया जान बच गई है बाकी हद तक ग्रामीण जनों का नुकसान। 


सीएम धामी ने इस घटना पर दुःख परकत करते हुए कहा है पिथौरागढ़ जिले के जुम्मा गांव के पास भूस्खलन से 2 लोगों की मौत, 5 मलबे में दबे उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी ने किया ट्वीट, जिलाधिकारी ने बचाव अभियान तेज करने का दिया आदेश है। पिथौरागढ़ डीएम आशीष चौहान जुम्मा गांव में एसडीआरएफ और एसएसबी की टीमें भेजी गई हैं। राहत सामग्री भी भेजी जा रही है। 


वाबजूद इसके मौसम विभाग की तरफ से सुचना है की अगले चौबीस घंटे में नैनीताल व पिथौरागढ़ अन्य इलाकों में भारी बारिश की संभावना है। वही जिलों में येलो अलर्ट जारी किया गया है। वही अन्य जिलों में माध्यम बारिश की होने की संभावना है। डीएम आशीष चौहान को सीएम धामी का सख्त निर्देश है रहत कार्य जल्द से जल्द कराया जाएं साथ घायलों को तत्काल अस्पतालों में उचित उपचार के लिए भेजा जाए।