राज्य सरकार ने कहा की हम पर एक अहसान कीजिए कोयला मत भेजिए: कोयला मंत्री प्रहलाद जोशी

बिजली संकट और कोयला उत्पादन के बीच मचे हाहाकार में केंद्रीय कोयला मंत्री प्रहलाद जोशी ने अपना पल्ला झाड़ते हुए कहा की कोयला संकट के लिए राज्य सरकार जिम्मेदार है

राज्य सरकार ने कहा की हम पर एक अहसान कीजिए कोयला मत भेजिए: कोयला मंत्री प्रहलाद जोशी

बिजली संकट और कोयला उत्पादन के बीच मचे हाहाकार में केंद्रीय कोयला मंत्री प्रहलाद जोशी ने अपना पल्ला झाड़ते हुए कहा की कोयला संकट के लिए राज्य सरकार जिम्मेदार है। केंद्र सरकार ने कहा है की इस वर्ष के जून में भी कोयला भण्डारन का निर्देश दिया गया था। हालाकिं राज्यों में ने उल्टा केंद्र सरकार आपूर्ति पर रोक लगाने की लिए कहा था। कोयला संकट का कारण बरसात को बताया जा रहा है की। लेकिन सोचने की बात यह है की बरसात से अगर कोयले बर्बाद हो रहे थे तो राज्य सरकार ने कोयला भण्डारन को कही और स्थानांतरण का विचार क्यों नहीं किया ? क्यूंकि राज्य में कोयला संकट और बिजली संकट खड़ा होना अपने आप में कई सवाल खड़ा करता है या राज्य सरकार इतनी लापरवाह है की वह अपने फैसले लेने में असमर्थ है। 

हम पर अहसान कीजिए कोयला मत भेजिए 

केंद्रीय कोयला मंत्री जोशी ने एक इंटरव्यू में कहा की बरसात की कमी से कोयला आयातित कोयला भाव साठ रूपये प्रति टन है लेकिन अब बढ़ोत्तरी करते हुए 190 रूपये प्रति टन कर दिया गया है। इसकी वजह से कोयला संचालित बिजली संयंत्र प्रभावित हुआ है। उन्होंने कहा की हम अपनी तरफ से कोयला की पूरी आपूर्ति कर रहे है हमने सोमवार को राज्यों में 19 लाख से 40 हजार टन कोयले की आपूर्ति की है जो रिकॉर्ड है। जहाँ तक राज्यों का सवाल है इस वर्ष जून तक हम उनसे आग्रह करते रहे कि कोयले का भण्डार बढ़ाएं लेकिन कुछ राज्यों ने उल्टा केंद्र को ही कह दिया हम पर एक अहसान कीजिए और कोयला मत भेजिए। वही राज्यों से आग्रह किया है की अपना भंडारा बढ़ाएं कोयले की कमी नहीं होगी। 


कोयले कि परिवहन को बढ़ाने की तैयारी 

प्रधामंत्री कार्यालय ने मंगलवार को देश में हो रहे कोयला संकट पर समीक्षा बैठक रखी। वही इस बैठक में ऊर्जा सचिव अलोक कुमार और कोयला सचिव एके जैन ने दोनों विभागों की ओर से पूरी जानकरी दी है। सूत्रों कि अनुसार बैठक में कोयले कि परिवहन को बढ़ाने पर चर्चा हुई है। कोयला मंत्रालय को आपूर्ति बढ़ाने जबकि रेलवे को रोक की उपलब्धता सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है।