आज से शुरू हो जाएंगे बंद पड़े छः पास्ट पोर्ट सेवा केंद्र , जाने पूरी प्रक्रिया

कोरोना काल में बंद चल रही पासपोर्ट सेवा को आज मंगलवार से हो जएगी शुरू

आज से शुरू हो जाएंगे बंद पड़े छः पास्ट पोर्ट सेवा केंद्र , जाने पूरी प्रक्रिया

कोरोना काल में बंद चल रही पासपोर्ट सेवा को आज मंगलवार से शुरू हो जएगी। कर्फ्यू में बंद किए गए प्रदेश के सभी छह पासपोर्ट सेवा केंद्रों पर कार्य ठप पड़े थे लेकिन अब जैसे जैसे कोरोना का ग्राफ निचे आ रहा है उत्तराखंड के बंद माहौल अब परिवर्तन देखने को मिल रहा है। उतराखंड के क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी विजय शंकर पांडेय ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं। कोरोना महामारी के चलते लगे कोविड कर्फ्यू की वजह से देहरादून के हाथीबड़कला स्थित पासपोर्ट सेवा केंद्र के अलावा प्रदेश के अल्मोड़ा, नैनीताल, काठगोदाम, रुद्रपुर, श्रीनगर गढ़वाल और रुड़की के पासपोर्ट सेवा केंद्र भी बंद कर दिए गए थे।


देहरादून में पिछले हफ्ते से सरकार की आदेशित गाइड लाइन के अनुसार पासपोर्ट सेवा केंद्र को आधी क्षमता के साथ बायोमीट्रिक सत्यापन के लिए खोल दिया गया था। वहां 210 ऑनलाइन अप्वाइंटमेंट रोजाना के दिए जा रहे हैं। क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी विजय शंकर पांडेय ने बताया कि पासपोर्ट कर्मियों को फ्रंटलाइन वर्कर मानते हुए उन्हें प्राथमिकता के आधार पर कोरोना का टीका लगाए जाने के लिए प्रदेश के स्वास्थ्य सचिव से अनुरोध किया गया है। इसके अतिरिक्त वहीं अल्मोड़ा, नैनीताल और श्रीनगर में 40-40 और काठगोदाम, रुद्रपुर व रुड़की में 20-20 अप्वाइंटमेंट रोजाना के खोले जाएंगे।


बनवाएं डीजी लॉकर और ऐसे करें सत्यापन

पासपोर्ट आवेदकों के लिए अब बायोमीट्रिक जांच के वक्त सत्यापन के लिए मूल दस्तावेजों को साथ ले जाना अनिवार्य नहीं होगा। वे डिजी लॉकर एकाउंट में जरूरी दस्तावेज अपलोड कर  इसे पासपोर्ट इंडिया की अधिकृत वेबसाइट से लिंक कर बायोमीट्रिक सत्यापन करा सकेंगे। डिजी लॉकर से जरूरी दस्तावेजों की जांच के लिए पासपोर्ट इंडिया की अधिकृत वेबसाइट www.passportindia.gov.in पर लॉगिन करना होगा। सामान्य तौर पर पासपोर्ट के लिए जैसे ऑनलाइन आवेदन किया जाता है, वैसा ही इसमें भी करना है। सिर्फ डिजी लॉकर के माध्यम से दस्तावेजों की जांच के लिए बेबसाइट में दिए गए ऑप्शन को क्लिक करना होगा। डिजी लॉकर एकाउंट बनाने के लिए अधिकृत सरकारी वेबसाइट www.digilocker.gov.in पर लॉगिन करें। संबंधित  दस्तावेज से लिंक किए गए मोबाइल पर ओटीपी आएगा। इसके बाद बताए गए निर्देशों के अनुसार, डिजी लॉकर एकाउंट बनाएं।