प्लास्टिक बैग को कहे बाय पेपर बैग से मदर अर्थ को बचाए: हैप्पी पेपर बैग डे

विश्वभर में 12 जुलाई यानी आज पेपर डे मनाया जा रहा है. पेपर डे मनाएं जाने की भी अपनी एक अलग खासियत है.

प्लास्टिक बैग को कहे बाय पेपर बैग से मदर अर्थ को बचाए: हैप्पी पेपर बैग डे

विश्वभर में 12 जुलाई यानी आज पेपर डे मनाया जा रहा है. पेपर डे मनाएं जाने की भी अपनी एक अलग खासियत है. सबसे पहले  यह प्लास्टिक फ्री है साथ ही उसके मुकाबले सुंदर व यूज़फुल भी होता है. वैसे ज्यादातर हमें प्लास्टिक बैग के बजाय पेपर बैग का ही इस्तेमाल करना चाहिए. हालाकिं कुछ ऐसे लोग है जो पेपर बैग को लॉन्ग लास्टिक ना समझ कर उसे व्यर्थ फेंक देते है. दूसरी तरफ देखा जाए तो पूरा विश्व प्लास्टिक की चपेट में आ गया है जिसने हमारे वातारण को ना सिर्फ नुकसान बल्कि उसे प्रदूषित भी कर दिया है. 12 जुलाई को हरसाल पेपर डे इस उदेश्य से मनाया जाता है की देश पल्स्टिक फ्री वातावरण में रह सके साथ इस दिवस के मौके पर नागरिकों को प्लास्टिक बैग बांटा जाता है. इस ख़ास अवसर पर 'देहरादून लाइव' सभी नागरिगों से अपील करता है की प्लास्टिक बैग के इस्तेमाल को त्यागकर पेपर बैग का उपयोग करें यह ना केवल आपके लिए बल्कि देशभर के वातावरण के लिए अच्छा होगा.

बता दे की फ्रांसिस वाले जो एक अमेरिकी अविष्कारक थे जिन्होंने साल 1852 में पहली बार पेपर बैग पेटेंट करने का श्रेय दिया है. साल 1870 में "मदर ऑफ़ द ग्रोसरी बैग" मार्गरेट ई ने सबसे पहले चौकोर, फ्लैट बॉटम बैग बनाएं और उन्होंने वह मशीन बनाई जो प्लास्टिक को मोड़कर कर उन्हें  चिपकाकर बैग बना देता था. इसके बाद दुनियाभर में प्लास्टिक बैन करने की मांग को लेकर प्रदर्शन हुए और लोगों ने इस बात को गंभीरता से समझा.

कितना यूज़फुल है पेपर बैग 

पेपर बैग को बनाने में कम ऊर्जा लगती है 
पेपर बैग का उपयोग आपसब में बार बार कर सकते है 
हैंड मेड पेपर बैग क्रिएटिविटी के तौर पर अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को दे सकते है 
पेपर बैग में दस-बारह सामान आराम से आ सकता है साथ ही इससे खाद भी बना सकता है.
इससे पालतू जानवर भी सुरक्षित रहते है क्यूंकि अक्सर पालतू या सड़कों में घूमने वाले जानवर प्लास्टिक को खा लेते है

रोजगार का बन सकता है अवसर 

आर्ट एंड क्राफ्ट के जरिए बच्चों व महिलाओं को क्लास देकर उन्हें सिखया जा सकता है.
क्रिएटिविटी के साथ बनाएं गए पेपर बैग को सेल करके कुछ आमदनी कमाई जा सकती है खासकर गिफ्ट्स सेंटर में इनका उपयोग ज्यादतर किया जाता है. सिखाने के लिए पुराने अख़बारों का इस्तेमाल किया जा सकता है इससे एक तरह इ रद्दी पेपर रीसाइकिल हो जाएंगे.