स्पेस टूरिज्म की यात्रा का हिस्सा बने पहले भारतीय संतोष जॉर्ज, ढाई लाख डॉलर में कराई टिकट बुक

यूं तो टूरिज्म कोई बड़ा विषय नहीं है लेकिन इस वक़्त एक ऐसा टूरिज्म का शौक रखने वालों के लिए ख़ास बन गया है।

स्पेस टूरिज्म की यात्रा का हिस्सा बने पहले भारतीय संतोष जॉर्ज, ढाई लाख डॉलर में कराई टिकट बुक

यूं तो टूरिज्म कोई बड़ा विषय नहीं है लेकिन इस वक़्त एक ऐसा टूरिज्म का शौक रखने वालों के लिए ख़ास बन गया है। देश विदेश तक टूरिज्म आम बात है लेकिन स्‍पेस टूरिज्‍म लोगों के बीच एक ख़ास वजह बन गया है। स्पेस टूरिज्म में पहला नाम भारत के संतोष जॉर्ज कुलंगरा दर्ज करा सकते है। माना जा रहा है ऐसा करने वाले संतोष पहले भारतीय होंगे। बता दे की इससे पहले स्पेस टूरिज्म का आनंद अमेज़न के संस्थापक जेफ बेजोज और वर्जिन गैलैक्टिक के रिचर्ड ब्रांसन अंतरिक्ष की सैर करके वापस लौटे हैं। वहीं स्पेस टूरिज्म इस खबर से लोग काफी उत्साहित है। 

संतोष घूमने के इतने दीवाने है की उन्होंने साल 2007 में स्पेस टूरिज्म के लिए ढाई लाख डॉलर में टिकट बुक करा ली थी। संतोष इस वक़्त 49 वर्षीय है और वो अब तक 130 देश घूम चुकें है। संतोष का कहना है की लोगों को पता नहीं है की अगले सौ साल तक पृथ्वी सुरक्षित रहेगी की नहीं जलवायु परिवर्तन महामारी की तरफ बड़ा संकेत देती है। इसी के साथ वर्जिन गैलेक्टिक के रिचर्ड ब्रांसन की अंतरिक्ष यात्रा इस बात को दर्शाती है कि अब जल्‍द ही अंतरिक्ष के लिए कमर्शियल फ्लाइट भी शुरू हो सकती हैं। 


संतोष अपनी इस यात्रा के लिए बहुत उत्सुक है और यात्रा पर जाने से पहले संतोष को साप्तहिक इस प्रोजेक्ट पर क्लासेज भी दी जा रही है उनका कहना है, 'एक फ्लाइट में सिर्फ चार लोग ही अंतरिक्ष की सैर कर सकते हैं। उनका चुनाव विभिन्‍न मानदंडों के आधार पर होगा. मैं जानता हूं कि मैं शुरुआती स्‍पेस फ्लाइट का हिस्‍सा बनूंगा'