बढाती महंगाई ने तोड़ी सबकी कमर, कांग्रेस सरकार ने किया केंद्र के खिलाफ विरोध प्रदर्शन

देश भर में बढ़ती महंगाई के खिलाफ कांग्रेस ने मनाया आक्रोश दिवस

बढाती महंगाई ने तोड़ी सबकी कमर, कांग्रेस सरकार ने किया केंद्र के खिलाफ विरोध प्रदर्शन

देश भर में कोरोना के खस्ता हालातों में महंगाई और पैट्रॉल डीजल की कीमते आसमान छू रही और इसी के चलते आमजन की जेब पर आफत खड़ी दी है। आक्रोश दिवस के रूप में आज देश भर के अलग शहरों में अलग अलग कांग्रेस नेता बढ़ती महंगाई के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे है। वहीं गुरूवार आज कांग्रेस सरकार ने केंद्र सरकार के खिलाफ पेट्रोल पम्प पर धरना प्रदर्शन कर रहे है। विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी भी आज आक्रोश दिवस के रूप में इस प्रदर्शन को मना रही है। 


दिल्ली कमेटी के कार्यकर्ता हाथों में बैनर लेकर सड़कों पर पैदल मार्च निकाल रहे हैं। वहीं राजधानी के दूसरे हिस्से में कांग्रेस संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने मोर्चा संभाला और केंद्र की गलत नीतियों के खिलाफ आवाज उठाई हालाकिं इस विरोध प्रदर्शन में आज प्रियंका गांधी शामिल नहीं हो रही है। वहीं राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट राजस्थान में विरोध प्रदर्शन में हिस्सा ले रहे हैं। इसके अलावा कई और वरिष्ठ नेता भी अलग-अलग शहरों में प्रदर्शन कर रहे है। 


तंग हाली में जनता की बदहाली 

बता दे की 11 जून को पार्टी के तमाम बड़े नेताओं ने अलग-अलग शहरों में विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। पार्टी ने बताया कि उनके इस अभियान के तहत देशभर में विरोध प्रदर्शन और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की जा रही है। इनमें केंद्र सरकार की गलत नीतियों से लोगों को आज पेट्रोल डीजल के दाम आसमान छू रहे हैं। कांग्रेस के मुताबिक तेल की बढ़ी कीमतों और महंगाई ने तंग हाली ने आम आदमी की कमर तोड़ दी है।


यूपीए सत्ता में 9.20 रुपये था  टैक्स 

दिल्ली में प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल ने कहा कि जब यूपीए सत्ता में थी, तब पेट्रोल और डीजल पर टैक्स 9.20 रुपये था और अब मोदी सरकार में यह 32 रुपये हो गया। हम सरकार से पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी वापस लेने की मांग करते हैं। साथ ही पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने का आग्रह करते हैं।