केरल के वायनाड में राहुल गांधी के कार्यालय में हुई तोड़फोड़, SFI के 19 कार्यकर्ता गिरफ्तार

स्थानीय अदालत ने उसे दो सप्ताह के रिमांड पर भेज दिया है। आज और गिरफ्तारियां होने की उम्मीद है

केरल के वायनाड में राहुल गांधी के कार्यालय में हुई तोड़फोड़, SFI के 19 कार्यकर्ता गिरफ्तार
केरल के वायनाड में कांग्रेस सांसद राहुल गांधी के कार्यालय में तोड़फोड़ की घटना को अंजाम दिया है इस मामले सत्तारूढ़ माकपा की छात्र शाखा एसएफआई के 19 कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारियों का सिलसिला जारी है। मामले में अब तक गिरफ्तार किए गए सभी आरोपी स्टूडेंट्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) की वायनाड इकाई के कार्यकर्ता हैं। स्थानीय अदालत ने उसे दो सप्ताह के रिमांड पर भेज दिया है। आज और गिरफ्तारियां होने की उम्मीद है। मनंतवाड़ी के पुलिस उपाधीक्षक मामले की जांच कर रहे हैं। एडीजीपी के नेतृत्व में विशेष जांच दल जल्द ही मामले की जांच करेगा। 

एसएफआई कार्यकर्ताओं द्वारा गांधी के वायनाड कार्यालय में तोड़फोड़ के कुछ घंटों बाद, केरल की वाम सरकार ने शुक्रवार रात को एडीजीपी रैंक के एक अधिकारी द्वारा उच्च स्तरीय जांच का आदेश दिया और कलपेट्टा के डीएसपी को निलंबित कर दिया। इस बीच, विपक्षी कांग्रेस ने आरोप लगाया कि राहुल गांधी के कार्यालय में तोड़फोड़ और हिंसा की घटनाएं सत्तारूढ़ मार्क्सवादी पार्टी और उसके शीर्ष नेतृत्व के इशारे पर की गईं। राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता वी डी सथेशन ने आज गांधी के कार्यालय का दौरा किया और दोहराया कि सीएम पिनाराई विजयन को पहले से ही हमले की जानकारी थी। 

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज का एक पूर्व निजी स्टाफ गांधी के कार्यालय पर हमले में शामिल लोगों में शामिल था। शुक्रवार को एसएफआई ने वायनाड में राहुल गांधी के कार्यालय तक विरोध मार्च निकाला। इस दौरान संगठन के कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस सांसद के कार्यालय पर हमला बोल दिया. इस हमले की सीएम विजयन ने भी निंदा की थी। उन्होंने दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी थी।