महानगर सिटी बस महासंघ के अध्यक्ष ने आर टी ए के अधिकारियो पर लगाए भ्रष्टाचार के आरोप

परिवहन विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार के कारण केंद्र सरकार के आदेशों का उत्तराखंड राज्य परिवहन के अधिकारी नहीं कर रहे पालन

महानगर सिटी बस महासंघ के अध्यक्ष ने आर टी ए के अधिकारियो पर लगाए भ्रष्टाचार के आरोप
देहरादून महानगर सिटी बस महासंघ द्वारा एक प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया, वार्ता को सम्बोधित करते हुए महासंघ के अध्यक्ष  विजय वर्धन डंडरियाल ने परिवहन अधिकारियों के भ्रष्टाचार के दो बिंदुओं को उजागर करते हुए परिवहन विभाग के अधिकारियों में व्याप्त भ्रष्टाचार की पोल खोलते हुए कहा केंद्र सरकार के स्पष्ट आदेश का पालन उत्तराखंड राज्य परिवहन अधिकारी के द्वारा नहीं किया जा रहा है।


उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने यह आदेश दिया था कि बड़ी और भारी बसों को 1 अप्रैल 2023 से फिटनेस सेंटर में भेजा जाएगा और छोटे वाहनों को 1 जून 2024 से अनिवार्य किया जाएगा लेकिन राज्य में जितने भी छोटे या बड़े वाहन हैं उनको आरटीओ के द्वारा अभी से ही फिटनेस सेंटर भेजा जा रहा है जो शहर से लगभग 30 किलोमीटर दूरी पर है, यह भ्रष्टाचार का सबसे बड़ा उदाहरण है केंद्र सरकार के आदेश का उल्लंघन स्पष्ट रूप से परिवहन अधिकारी कर रहे है।


वही भ्रष्टाचार का दूसरा उदाहरण यह है कि दिसंबर 2023 से सभी ऐसे वाहन सड़कों से बाहर हो जाएंगे जो सीएनजी या यूरो 6 से नहीं चलते हैं, यानी अब जिन्हें गाड़ियों को चलाना है वह या तो यूरो 6 गाड़ी लाए या सीएनजी की गाड़ी चलाएं आरटीए के इस फरमान से लाखों लोग बेरोजगार हो जाएंगे और हजारों लोगों की गाड़ियां खड़ी हो जाएगी।


आगे उन्होंने कहा की यदि हमारी बात नहीं मानी जाती है तो हम हड़ताल करने के लिए मजबूर हो जाएंगे।