केस लड़ते लड़ते अर्श से फर्श तक पहुंचे प्रत्युषा के माता पिता, आखिरी सांस तक लड़ेंगे केस

छोटे पर्दे की मशहूर एक्ट्रेस प्रत्युषा बनर्जी जी को गए पांच साल गए है लेकिन आज भी उनके माता पिता प्रत्युषा की इन्साफ की लड़ाई लड़ रहे है।

केस लड़ते लड़ते अर्श से फर्श तक पहुंचे प्रत्युषा के माता पिता, आखिरी सांस तक लड़ेंगे केस

छोटे पर्दे की मशहूर एक्ट्रेस प्रत्युषा बनर्जी को गए पांच साल गए है लेकिन आज भी उनके माता पिता प्रत्युषा की इन्साफ की लड़ाई लड़ रहे है। एक अप्रैल 2016 को प्रत्युषा बनर्जी ने अपने फ्लैट पर फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली थी। लेकिन उनकी मौत की गुल्थी अनसुलझी ही रही उनकी मौत को आत्महत्या तो बताया गया लेकिन उनके परिजनों और दोस्तों ने इस बात ख़ारिज कर दिया लेकिन प्रत्युषा के माता पिता ने दावा किया था उनकी बेटी का मर्डर हुआ हैं। 


अपनी बेटी के लिए पिछले पांच सालो से इन्साफ की लड़ाई रहे उनके माता पिता अब तंगहाली का सामना कर रहे है। प्रत्युषा के पिता शंकर बनर्जी ने एक बयान जारी किया है उन्होंने कहा है की प्रत्युषा के जाने से ऐसा लगता है की एक भयंकर तूफ़ान आया है और हमारा सबकुछ लेकर चला गया है। उन्होंने कहा उसी ने हमें अर्श तक पहुंचाया था और उसके जाने के बाद अब फर्श पर लौटे हैं।'। उनके पिता शंकर बनर्जी के मुताबिक अब वह एक कमरे में रहने को मजबूर हो गए हैं इस केस के लिए उन्हें कई बार कर्ज़ तक लेने पड़े हैं। 

वहीं प्रत्युषा के पिता ने बताया की उसकी माँ एक चाइल्ड केयर सेंटर में नौकरी करती है। वह खुद भी कुछ ना कुछ कहानियां लिखते है ताकि वह खाली हाथ ना रहे। वहीं उन्हें उम्मीद है की एक ना एक दिन वह अपनी बेटी के लिए इन्साफ लड़ाई जरूर जीतेंगे। फिर चाहे यह केस उन्हें आखिरी साँस तक क्यों ना लड़ना पड़े। इस केस को लड़ते लड़ते प्रत्युषा के माता पिता अपना सबकुछ बेच चुके है यहां तक वो एक अब एक कमरे में रहने को मजबूर है। 

बता दे की प्रत्युषा बनर्जी एक्टर राहुल राज सिंह के साथ रिलेशनशिप में थी। उनके बीच अक्सर मतभेद और झगडे हुआ करते थे। प्रत्युषा झगड़ों के चलते काफी तनाव में रहने लगी। उनकी मौत का आरोप उनके बॉयफ्रेंड पर लगया गया था लेकिन अग्रिम जमानत तक राहुल को छोड़ दिया गया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रत्युषा और राहुल शादी करने वाले थे और प्रत्युषा प्रेग्नेंट भी थी। हालाकिं राहुल पहले से शादी शुदा थे और उनका एक बेटा भी है। 


स्पॉटबॉय से बात करते हुए, राहुल ने खुलासा किया कि महामारी के कारण, मामले में फैसले में देरी हुई है, लेकिन उन्हें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है। अभिनेता ने कहा कि उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं है और प्रत्यूषा ने उन्हें जो आखिरी फोन किया वह कुछ भी साबित नहीं करता है। उन्होंने आगे बालिका वधू अभिनेता के माता-पिता पर उसे आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया। 


राहुल ने दावा किया, “कोविड महामारी ने मामले को जितना लंबा होना चाहिए था, उससे कहीं अधिक लंबा कर दिया है। मैं उस दिन का इंतजार कर रहा हूं जब कोर्ट मेरे नाम को क्लियर करेगा। मुझे पता है कि मैं दोषी नहीं हूं। मैंने प्रत्यूषा को नहीं मारा, उसके माता-पिता के लालच ने उसे मार डाला। वह उनकी अंतहीन मांगों को पूरा करने में असमर्थ थी। मैंने उसे बचाने की कोशिश की, मारने की नहीं