मुफ्त बिजली पर छिड़ी सियासत बिना किसी ठोस योजना के जुमलेबाजी कर रही है भाजपा

उत्तराखंड के प्रदेशवासियों को मुफ्त 100 यूनिट फ्री मिलने वाली बिजली अजय कोठियाल ने जुमलेबाजी बताते हुए कहा है ऊर्जा मंत्री हरक सिंह ने अपना होमवर्क पूरा किए बिना ही जल्दबाजी में घोषणा कर दी है

मुफ्त बिजली पर छिड़ी सियासत बिना किसी ठोस योजना के जुमलेबाजी कर रही है भाजपा

उत्तराखंड के प्रदेशवासियों को मुफ्त 100 यूनिट फ्री मिलने वाली बिजली अजय कोठियाल ने जुमलेबाजी बताते हुए कहा है ऊर्जा मंत्री डॉ. हरक सिंह ने अपना होमवर्क पूरा किए बिना ही जल्दबाजी में घोषणा कर दी है. कोठियाल ने  कहा की भाजपा पहले खुद फ्री बिजली का विरोध करती थी वही अपने मतलब के लिए भाजपा चुनावी जुमलेबाजी कर रही है. वहीं साढ़े चार साल के कार्यकाल में भाजपा ने प्रदेश में मुख्यमंत्री बदलने के सिवा कुछ नहीं किया और अब अपनी कुर्सी बचाने के लिए बिना किसी ठोस योजना के जुमलेबाजी कर रही है.


दरअसल फ्री बिजली का मामला उस वक़्त से चल रहा है जब से ऊर्जा मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत ने बुधवार को ऊर्जा निगमों की बैठक के बाद मुफ्त बिजली की घोषणा की थी. इसके तहत जिन घरेलू उपभोक्ताओं का हर महीने का बिल 100 यूनिट या इससे कम होगा, उनका पूरा बिजली बिल माफ किया जाएगा.जबकि जिनका बिल 101 यूनिट से 200 यूनिट के बीच होगा, उन्हें बिल में 50 फीसदी की छूट दी जाएगी. प्रदेश में करीब सात लाख उपभोक्ता ऐसे हैं, जिनका बिजली का बिल हर महीने 100 यूनिट या इससे कम आता है.

सिर्फ आप पार्टी के अजय कोठियाल ही नहीं बल्कि पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने भी फ्री बिजली के ऊपर सवाल खड़े किए है. हरीश रावत का कहना है की सौ यूनिट ही क्यों? डबल इंजन वाली सरकार बहादुर है चाहे तो दो सौ यूनिट भी बिजली भी मुफ्त दे सकती है लोगों को अच्छा लगेगा पहले लोगों को चौबीस घंटे बिना पावर कट के बिजली दे दे और फिर जरा ऐसा कहने से पहले पॉवर कॉपरेशन के खाते को भी देख ले.