पीएम मोदी 4 फरवरी को दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे के पहले चरण का करेंगे उद्घाटन

भारत में हाईवे और एक्सप्रेसवे का जाल तेजी से बिछाया जा रहा है। बड़े शहरों के अलावा छोटे शहरों और कस्बों को भी जोड़ने का काम चल रहा है।

पीएम मोदी 4 फरवरी को दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे के पहले चरण का  करेंगे उद्घाटन

भारत में हाईवे और एक्सप्रेसवे का जाल तेजी से बिछाया जा रहा है। बड़े शहरों के अलावा छोटे शहरों और कस्बों को भी जोड़ने का काम चल रहा है। यही वजह है कि जल्द ही दिल्ली से कार से मुंबई पहुंचना आसान हो जाएगा। इसके पहले चरण का उद्घाटन 4 फरवरी को होने जा रहा है, जिसके लिए 4 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौसा आने की संभावना है.

 

हरियाणा में सोहना से राजस्थान में दौसा तक दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे का पहला खंड है। इसकी लंबाई 225 किमी है, जबकि देश के सबसे बड़े एक्सप्रेसवे दिल्ली से मुंबई की दूरी करीब 1350 किमी है। 2024 में एक्सप्रेस-वे के तैयार हो जाने के बाद कार से दिल्ली से मुंबई का सफर महज 12 घंटे में हो सकेगा। अभी इस दूरी को तय करने में करीब 24 घंटे का समय लगता है।

 

दिल्ली मुंबई एक्सप्रेसवे की आधारशिला 2019 में रखी गई थी। इसके निर्माण में 12 लाख टन स्टील का इस्तेमाल होगा, जो 50 हावड़ा ब्रिज के बराबर है। साथ ही 35 करोड़ क्यूबिक मीटर मिट्टी और 80 लाख टन सीमेंट का इस्तेमाल होगा। इसके निर्माण पर करीब एक लाख करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है।एक्सप्रेसवे का निर्माण पूरा होने के बाद ईंधन की खपत में 32 करोड़ लीटर की कमी आएगी। हाईवे पर हर 500 मीटर पर रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम होगा। इसके साथ ही एक्सप्रेस वे के दोनों ओर 40 लाख पौधे लगाने की योजना है.