दिल्ली से पकड़ा गया पाकिस्तानी नागरिक, कई नाम से बना रखी थी फर्जी आईडी

पूर्वी दिल्ली के लक्ष्मी नगर इलाके से एक दिन पहले गिरफ्तार किए गए एक पाकिस्तानी नागरिक को मंगलवार को 14 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया

दिल्ली से पकड़ा गया पाकिस्तानी नागरिक, कई नाम से बना रखी थी फर्जी आईडी

पूर्वी दिल्ली के लक्ष्मी नगर इलाके से एक दिन पहले गिरफ्तार किए गए एक पाकिस्तानी नागरिक को मंगलवार को 14 दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। रिमांड का आदेश मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट पंकज शर्मा ने पटियाला हाउस कोर्ट में दिया। इससे पहले, दिल्ली पुलिस ने कहा था कि मोहम्मद अशरफ नाम का व्यक्ति स्लीपर सेल के रूप में शामिल था और विध्वंसक (destroyer) गतिविधियों को अंजाम देने की योजना बना रहा था। 


बांग्लादेश से सिलीगुड़ी भेजा गया था 

पुलिस उपायुक्त, विशेष प्रकोष्ठ, प्रमोद कुशवाहा ने कहा कि पाकिस्तानी नागरिक की गिरफ्तारी के साथ एक बड़ा आतंकवादी हमला विफल हो गया था, ने कहा कि अशरफ भारतीय पहचान का उपयोग करके एक दशक से अधिक समय से देश में रह रहा था। पुलिस अधिकारी ने कहा कि अशरफ को बांग्लादेश के रास्ते सिलीगुड़ी सीमा से भारत भेजा गया था। पाकिस्तान से उसके आईएसआई हैंडलर यानी आतंकी हमलों को अंजाम देने वाले  काम सौंपा था। पूर्व में भी वह आतंकी गतिविधियों में शामिल रहा है। 


भारतीय पासपोर्ट हासिल कर लिया था 

बताया गया है की आरोपी में कई नाम से फर्जी आईडी बनवाई थी वही उसी में से एक  अहमद नूरी के नाम से थी। कुशवाहा ने आगे कहा, "उसने भारतीय पासपोर्ट भी हासिल कर लिया था, थाईलैंड और सऊदी अरब की यात्रा की थी। उसने दस्तावेजों के लिए गाजियाबाद में एक भारतीय महिला से शादी की थी और बिहार से भारतीय आईडी हासिल की थी। पुलिस ने कहा कि उसके कहने पर एके-47 और कई अन्य हथियार और गोला-बारूद बरामद किया गया है। पुलिस ने कहा कि अशरफ को गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम, विस्फोटक अधिनियम और शस्त्र अधिनियम के प्रासंगिक प्रावधानों के तहत गिरफ्तार किया गया था।