ओम बिरला का बयान, अफगानिस्तान में राजनीतिक उथल-पुथल से भारत को प्रभावित नहीं होने देंगे

ध्यक्ष ओम बिरला ने गुरुवार को कहा अन्य देशों में राजनीतिक उथल-पुथल को भारत को प्रभावित नहीं होने देंगे

ओम बिरला का बयान, अफगानिस्तान में राजनीतिक उथल-पुथल से भारत को  प्रभावित नहीं होने देंगे

अफ़ग़ानिस्तान और तालिबान के बीच चल रहे उथल पुथल को लेकर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने गुरुवार को कहा कि भारत के सशस्त्र सेना अन्य देशों में राजनीतिक उथल-पुथल को भारत को प्रभावित नहीं होने देंगे. हमें अपने सशस्त्र बलों पर पूरा भरोसा है कि वे किसी अन्य देश (अफगानिस्तान) में राजनीतिक उथल-पुथल को भारत को प्रभावित नहीं होने देंगे. 


अफ़ग़ानिस्तान के आतंक से वैसे ही निपटेंगे जैसे भारत वर्तमान में आतंकवाद से निपटता है

बिड़ला की टिप्पणी के एक दिन बाद चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत ने कहा कि अफगानिस्तान से फैलने वाले आतंकवाद से उसी तरह निपटा जाएगा जैसे भारत वर्तमान में आतंकवाद से निपटता है. रावत ने कहा कि भारत किसी भी ऐसे खुफिया इनपुट का भी स्वागत करेगा जो उसे अफगानिस्तान से फैलने वाले आतंकवाद को रोकने में मदद कर सकता है। रावत ने पाकिस्तान और चीन के संदर्भ में अलर्ट रहने की जरूरत भी जताई और कहा कि दोनों पड़ोसी देश 'परमाणु सक्षम' हैं. 


पहलगाम और श्रीनगर जाएंगे ओम बिड़ला 

बिड़ला ने एलएसी पर हाल के तनाव पर भी ध्यान दिया और कुछ देशों और उनके 'विस्तारवादी दृष्टिकोण' पर सीमा तनाव को दोष देते हुए इसी तरह की चिंताओं को प्रतिध्वनित किया। उनका पैंगोंग झील और नुब्रा घाटी सहित लद्दाख क्षेत्र के दूर-दराज के इलाकों का दौरा करने का कार्यक्रम है। बिड़ला इन जगहों के पंचायत नेताओं से बातचीत करने के लिए पहलगाम और श्रीनगर भी जाएंगे.