अब जिया खान को इन्साफ दिलाएगा सीबीआई कोर्ट, आठ साल से पेंडिंग पड़ा है केस

पिछले आठ साल से पेंडिंग पड़ा हुआ जिया खान के केस की सुनवाई अब सीबीआई कोर्ट में होगी।

अब जिया खान को इन्साफ दिलाएगा सीबीआई कोर्ट, आठ साल से पेंडिंग पड़ा है केस

पिछले आठ साल से पेंडिंग पड़ा हुआ जिया खान के केस की सुनवाई अब सीबीआई कोर्ट में होगी। साल 2013 तीन जून को जिया खान ने अपने फ्लैट में फांसी लगा ली थी लेकिन इस आत्महत्या के मुख्य आरोपी जिया के बॉयफ्रेंड सूरज पंचोली पर मुकदमा दर्ज किया था। इस आत्महत्या के लिए जिया खान की मां राबिया खान ने सूरज पर आरोप लगाएं थे की सूरज ने ही मेरी बेटी आत्महत्या करने पर मजबूर किया है। 


इस मामले की सुनवाई साल 2019 से शुरू हुई थी लेकिन यह केस आगे नहीं बढ़ पाया। मुकदमे में सूरज का प्रतिनिधित्व करने वाले अधिवक्ता प्रशांत पाटिल ने ईटाइम्स के हवाले से कहा, "माननीय सत्र न्यायालय द्वारा उक्त मामले को विशेष सीबीआई अदालत में स्थानांतरित करने का आदेश मेरे मुवक्किल सूरज पंचोली के लिए एक बेहतर कदम है। अब मामला  सीबीआई न्यायालय को हस्तांतरित किया गया है। जो कानून के अनुसार सही कानूनी स्थिति है। हमें अब विश्वास है कि मामले को तेजी से अंजाम दिया जाएगा और निष्कर्ष निकाला जाएगा।"


पच्चीस वर्षीय जिया खान आदित्य पंचोली के बेटे सूरज पंचोली के साथ रिलेशनशिप में थी। दोनों के बीच आपसी रिश्ते को लेकर बेहद तनाव था जिया काफी डिप्रेशन में थी। वही जिया ने फांसी लगाने से पहले सूरज को कई बार फ़ोन किया था बल्कि जिया ने जाते जाते सूरज पंचोली के लिए एक दर्द भरा पत्र भी लिखा था। यह पत्र तीन जून के बाद जिया के फ्लैट से बरामद किया गया था। जिया ने लिखा था "इन दिनों मुझे कोई रोशनी नहीं दिख रही है और मैं जागना नहीं चाहती। एक समय था जब मैंने अपने जीवन को तुम्हारे साथ देखा था, एक भविष्य तुम्हारे साथ। पर तुमने मेरे सपने चकनाचूर कर दिए"।