नैनीताल: दरकती पहाड़ियों से हुआ भारी भूस्खलन, बसों से उतर कर भागे पर्यटक

परवर्तीय क्षेत्रों पर भारी बारिश और दिन पर दिन आपदा का मंजर देखने को मिल रहा है, बीते शुक्रवार की शाम हुआ भारी भूस्खलन

नैनीताल: दरकती पहाड़ियों से हुआ भारी भूस्खलन, बसों से उतर कर भागे पर्यटक

परवर्तीय क्षेत्रों पर भारी बारिश और दिन पर दिन आपदा का मंजर देखने को मिल रहा है। वही पर्यटन स्थल नैनीताल भारी भूस्खलन देखने को मिला। रोजाना इस तरह की आपदा का सामना करना ना सिर्फ पर्यटकों के लिए खतरा साबित हो रही है ग्रामीणों के लिए भी यह किसी गंभीर समस्या से कम नहीं है। 


नैनीताल रोड के समीप वीरभट्टी क्षेत्र में बीते शुक्रवार की शाम करीब 5 बजे के आसपास भूस्खलन हो गया गनीमत रही कि उस रास्ते से जाने वाली बस वक्त पर ही रुक गई जिसमे कई लोग सवार थे पहाड़ी से मलबा नीचे गिरते देख लोग जल्दबाजी में बस से उतरने लगे और पीछे की ओर दौड़ने लगे।भूस्खलन में पेड़ तेजी से पेड़ नीचे आते दिख। लगातार मलबा ढहने से मलबा पुरे सड़क पर फ़ैल गया जिससे आवागमन ठप हो गई है। 


गौरतलब है कि इनदिनों भारी बारिश की वजह से पहाड़ी क्षेत्रों में जगह जगह भूस्खलन हो रहा है।वीरभट्टी पहले से ही संवेदनशील क्षेत्र माना जाता है। आवागमन की समस्या को देखते हुए वीरभट्टी के समीप पहाड़ को काटकर रास्ता बनाया गया हालाकिं यह कार्य किसी जोखिम से कम नहीं था। 

बीते गुरूवार को कुमाऊ में भूस्खलन की घटना सामने आई। वहीं, कोटद्वार में एक युवक नदी के उफान में बह गया। कोटद्वार के चिलरखाल-लालढांग मार्ग पर बरसाती नदी सिगड्डीस्रोत के उफान पर बहने के कारण सड़क का करीब सौ मीटर हिस्सा बह गया है। सड़क नदी में तब्दील होने से इस मार्ग पर आवागमन ठप हो गया है।