उत्तराखंड के इन 36 पुलों पर हो सकता है मोरबी जैसा हादसा, पढ़िए पूरी खबर

दरसल मोरबी में हुए हादसे के बाद उत्तराखंड में मुख्यमंत्री धामी ने लोक निर्माण विभाग को प्रदेश के सभी पुलों की स्थिति जानने और उन्हें दुरुस्त करने के निर्देश दिए

उत्तराखंड के इन 36 पुलों पर हो सकता है मोरबी जैसा हादसा, पढ़िए पूरी खबर
30 अक्टूबर २०२२ गुजरात के इतिहास का एक ऐसा दिन जिस दिन सैकड़ो लोगो ने अपनी जान गवाई जी हा मोरबी पुल हादसा किसे नहीं याद इस हादसे में 2 महीने के नवजात शिशु से लेकर 85 साल तक के बुजुर्ग तक ने अपनी जान गवाई कुछ की लाशे मिली तो कुछ आज भी घटना वाली जगह पर इस उम्मीद में जाते है की क्या पता कावेरी नदी में  तैरती किसी अपने की लाश मिल जाए.


दरसल मोरबी में हुए हादसे के बाद उत्तराखंड में मुख्यमंत्री धामी ने लोक निर्माण विभाग को प्रदेश के सभी पुलों की स्थिति जानने और उन्हें दुरुस्त करने के निर्देश दिए थे.  जिसके बाद रोड सेफ्टी ऑडिट में कई चौंकाने वाले खुलासे हुए ऑडिट में यह बात सामने आई कि उत्तराखंड में तीन दर्जन पुलों पर वाहनों की आवाजाही सक्षम नहीं है लोक निर्माण विभाग पीडब्ल्यूडी की ओर से कराए गए रोड सेफ्टी ऑडिट में 36 पुलों को असुरक्षित पाया गया है।यह बात सामने आने के बाद विभाग की ओर से इन पुलों पर वाहनों की आवाजाही को प्रतिबंधित किया गया है.

आपको बता दे की राज्य में कुल 3262 पूलो की जांच के निर्देश दिए गए थे जिसमे से अबी तक 2518 पुलों की जांच की जा चुकी है इसमे से 36 पुलों को पूर्ण रूप से असुरक्षित पाई गई है.आइये आप भी जानिए की आपके जिले में कहा पर और कितने पुल असुरक्षित है लोनिवि के मुख्य अभियंताओं की ओर से दी गई रिपोर्ट के अनुसार पौड़ी में 16 पुल असुरक्षित है जबकि पिथौरागढ़ में एक, यूएस नगर में पांच, देहरादून में एक, हरिद्वार में तीन, टिहरी में 8, चमोली में एक और रुद्रप्रयाग में एक पुल यातायात के लिए असुरक्षित पाया गया है। इन पुलों को नए सिरे से बनाने के लिए प्रस्ताव जारी कर दिए गए हैं।