पेगासस जैसे सॉफ्टवेयर की वजह से लाखों लोग चैन की नींद सो पाते है: एनएसओ

पिछले कई दिनों से पेगासस जासूसी सॉफ्टवेयर विवाद देश भर में ट्रेंड कर रहा है। इस विवाद में मंत्रियों समेत उद्योगपति व दलाईलामा जैसे माने जाने लोग भी इस फ़ोन टैपिंग के बलि चढ़ गए।

पेगासस जैसे सॉफ्टवेयर की वजह से लाखों लोग चैन की नींद सो पाते है: एनएसओ

पिछले कई दिनों से पेगासस जासूसी सॉफ्टवेयर विवाद देश भर में ट्रेंड कर रहा है। इस विवाद में मंत्रियों समेत उद्योगपति व दलाईलामा जैसे माने जाने लोग भी इस फ़ोन टैपिंग के बलि चढ़ गए। लेकिन अब विवादों के चलते इजराइल की साइबर सुरक्षा कंपनी एनएसओ ग्रुप ने अपना बचाव करते हुए दावा किया कि खुफिया और कानून लागू करने वाली एजेंसियों को टेक्नोलॉजी उपलब्ध कराने के कारण दुनिया में लाखों लोग रात में चैन की नींद सो पाते हैं और इसलिए यहां नागरिग सुरक्षित हैं। 


कंपनी का कहना है की वह टेक्नोलॉजी का संचालन नहीं करती है साथ ही ना ही कंपनी अपने पास अपने ग्राहकों का किसी प्रकार का डेटा कलेक्ट नहीं करती है। भारत समेत कई देशों में पत्रकारों, मानवाधिकार कार्यकर्ताओं, नेताओं और अन्य लोगों की जासूसी करने के लिए पेगासस सॉफ्टवेयर के इस्तेमाल ने उनकी निजता से संबंधित मुद्दों पर चिंता पैदा कर दी है। अंतरराष्ट्रीय मीडिया संघ के मुताबिक इजराइली कंपनी द्वारा विभिन्न सरकारों को बेचे गए स्पाईवेयर के जरिए नेताओं, मानवाधिकार कार्यकर्ताओं और पत्रकारों समेत अन्य लोगों को निशाना बनाया गया। 

वहीं इस सॉफ्टवेयर का भारत में दुरूपयोग किया गया है जिसके चलते विवाद का मुद्दा बना है एनएसओ ने अक्टूबर 2019 में कहा था कि ‘‘समझौते" के तहत गंभीर अपराध और आतंकवाद को रोकने के सिवा इस सॉफ्टवेयर का किसी अन्य मामले में हमारे उत्पाद के लिए इस्तेमाल करना निषेध है। साथ ही कंपनी का कहना है की यदि इस सॉफ्टवेयर का कोई गलत इस्तेमाल करता है तो हम उस पर कार्रवाई करते हैं। 

भारत को सॉफ्टवेयर बेचे जाने की पुष्टि या खंडन किए बिना कंपनी ने कहा था कि उसके ‘‘उत्पादों को सरकारी खुफिया और कानून लागू करने वाली एजेंसियों को लाइसेंस पर दिया जाता है, जिसका एकमात्र उद्देश्य आतंक और गंभीर अपराध को रोकना और जांच करना है। नवीनतम विवाद के बीच इजराइल ने एनएसओ ग्रुप के निगरानी सॉफ्टवेयर के दुरुपयोग के आरोपों की समीक्षा के लिए एक समिति गठित की है और ‘‘लाइसेंस देने के पूरे मामले की समीक्षा’’ का संकेत दिया है।