सांसद संतोख सिंह के निधन से भारत जोड़ो यात्रा के कार्यक्रम में हुए कई बदलाव

शनिवार सुबह कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा जब लुधियाना के लाडोवाल टोल प्लाजा से फगवाड़ा की तरफ बढ़ रही थी.

सांसद संतोख सिंह के निधन से भारत जोड़ो यात्रा के कार्यक्रम में हुए कई बदलाव

शनिवार सुबह कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा जब लुधियाना के लाडोवाल टोल प्लाजा से फगवाड़ा की तरफ बढ़ रही थी तब एक दुखद घटना घटी। यात्रा में शामिल जालंधर से 76 वर्षीय कांग्रेस सांसद संतोख सिंह चौधरी का अचानक दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। इसके बाद आगे की यात्रा रोक दी गई। कुछ देर बाद कांग्रेस सांसद राहुल गांधी जालंधर स्थित संतोख सिंह चौधरी के घर पहुंचे और परिजनों से मुलाक़ात की। उन्होंने कहा - उनके अचानक निधन से स्तब्ध हूं। वे जमीन से जुड़े परिश्रमी नेता, एक नेक इंसान और कांग्रेस परिवार के मजबूत स्तम्भ थे।

 

इसके बाद एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए कांग्रेस सांसद एवं पार्टी के संचार विभाग के प्रभारी जयराम रमेश ने बताया कि जैसे ही हमें संतोख सिंह चौधरी के निधन की दुखद ख़बर मिली हमने यात्रा को तुरंत स्थगित कर दिया। उनके सम्मान में 24 घंटे यात्रा स्थगित रहेगी और रविवार दोपहर खालसा कॉलेज ग्राउंड,जालंधर से फ़िर शुरू होगी। उन्होंने आगे बताया कि संतोख सिंह चौधरी का कल अंतिम संस्कार होगा जिसमें राहुल गांधी मौजूद होंगे। 15 जनवरी को जालंधर में होने वाली राहुल गांधी की प्रेस कॉन्फ्रेंस अब 17 जनवरी को होशियारपुर में होगी।

 

प्रेस कॉन्फ्रेंस में पंजाब के पूर्व उपमुख्यमंत्री और राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी सुखजिंदर सिंह रंधावा ने कहा कि संतोख सिंह चौधरी का निधन पूरी कांग्रेस पार्टी के लिए दुखदाई ख़बर है। उनके पिता स्वतंत्रता सेनानी थे। वह ज्ञानी ज़ैल सिंह और प्रकाश सिंह कैरों की सरकार में मंत्री भी थे। उनके परिवार ने आज तक किसी दूसरी पार्टी की ओर नहीं देखा। वे खुद सांसद थे और उनका बेटा एमएलए है। संतोख सिंह अंत तक दलितों के लिए लड़ते रहे। इनका पूरा परिवार दलितों के लिए लड़ता रहा है। इनका जाना कांग्रेस के लिए अपूरणीय क्षति है।

 

एक सवाल के जवाब में रमेश ने कहा कि भारत जोड़ो यात्रा की सफलता को आगे बढ़ाने के लिए कांग्रेस पार्टी ने हाथ से हाथ जोड़ो अभियान की घोषणा की है। यह अभियान 26 जनवरी से शुरू होगा और 2 महीने तक चलेगा। इसके ज़रिए कांग्रेस पार्टी देश के क़रीब ढाई लाख ग्राम पंचायतों, लगभग 6 लाख गांवों और क़रीब 10 लाख मतदान केंद्रों को कवर करेगी। ऐसा अभियान पहले कभी नहीं चलाया गया है। भारत जोड़ो यात्रा का संदेशा लेकर कार्यकर्ता घर-घर जाएंगे। राहुल गांधी के खत को विभिन्न भाषाओं में घर-घर तक पहुंचाया जाएगा। मोदी सरकार की विफलताओं और उनके झूठे वादों की जो चार्जशीट हमने तैयार की है तथा जो दस्तावेज हमने बनाए हैं, वो भी हर घर तक पहुंचाए जाएंगे।

 

उन्होंने आगे कहा कि भारत जोड़ो यात्रा चुनावी यात्रा नहीं है लेकिन हाथ से हाथ जोड़ो अभियान सीधा चुनाव से जुड़ा हुआ है। यह एक त्रिस्तरीय अभियान होगा। ब्लॉक स्तर पर यात्राएं निकाली जाएंगी और कार्यकर्ता लोगों के घरों तक जाएंगे। ज़िले के स्तर पर अधिवेशन होंगे। राज्य स्तर पर विशेष रूप से महिलाओं के लिए यात्राएं होंगी।