जॉनसन एंड जॉनसन की सिंगल डोज़ को, आपातकालीन उपयोग के लिए दी मंजूरी

शनिवार आज भारत को जॉनसन एंड जॉनसन की सिंगल डोज़ कोविड -19 को भारत में आपातकालीन उपयोग के लिए मंजूरी दे दी

जॉनसन एंड जॉनसन की सिंगल डोज़ को, आपातकालीन उपयोग के लिए दी मंजूरी

शनिवार आज भारत को जॉनसन एंड जॉनसन की सिंगल डोज़ कोविड -19 को भारत में आपातकालीन उपयोग के लिए मंजूरी दे दी। वैक्सीन उस संजीविनीबूटी की तरह हमारे भारत में साबित हुआ जब भारत में कोरोना से एक बाद एक मौत होने लगी इसके बाद कोरोना से बचने का एक मात्र विकल्प हमारे पास था वैक्सीन। जॉनसन एंड जॉनसन इंडिया के प्रवक्ता ने कहा की हमें यह घोषणा करते हुए बहुत ख़ुशी महसूस हो रही है की 7 अगस्त 2021 को, भारत सरकार ने भारत में जॉनसन एंड जॉनसन COVID19 सिंगल डोज़ वैक्सीन के लिए आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण (ईयूए) जारी किया, ताकि 18 व्यक्तियों में COVID को रोका जा सके। वर्ष और उससे अधिक उम्र के।"

भारत के पास 5 EUA टीके हैं

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने ट्वीट कर जानकारी दी की “भारत ने अपनी वैक्सीन "बास्केट" का विस्तार किया है जॉनसन एंड जॉनसन की सिंगल डोज़ वाली COVID-19 वैक्सीन को भारत में आपातकालीन उपयोग के लिए मंजूरी दी गई है। अब भारत के पास 5 EUA टीके हैं। यह हमारे देश की सामूहिक लड़ाई को और बढ़ावा देगा। कंपनी जल्द बायोलॉजिकल ई लिमिटेड के साथ मिलकर कोविड-19 वैक्सीन लॉन्च करेगी। जॉनसन एंड जॉनसन ने एक बयान जारी किया की यह मील का पत्थर की तरह है जो भारत के लोगों और बाकी दुनिया के लोगों के लिए कंपनी की सिंगल-डोज़ कोविड -19 वैक्सीन लाने का मार्ग प्रशस्त करता है। 

वैक्सीन उन लोगों को दी जा सकती है, जिन तक पहुंचना मुश्किल हो

जॉनसन एंड जॉनसन वैक्सीन वर्तमान में एकमात्र शॉट है, जिसे एकमात्र डोज़ के बाद कहा जा सकता है की वैक्सीन उन लोगों को दी जा सकती है, जिन तक पहुंचना मुश्किल हो सकता है या जिन्हें दूसरी खुराक मिलने की संभावना नहीं है। यह उन लोगों के लिए मददगार हो सकता है जो भारत से बाहर रहते हैं, खासकर समुद्री नाविक, जो समुद्र में कई महीने बिताते हैं। कंपनी ने कहा कि एक अध्ययन से पता चला है कि इसका टीका गंभीर बिमारियों खिलाफ 85 प्रतिशत प्रभावी है और अस्पताल में भर्ती और मृत्यु के खिलाफ सुरक्षा का प्रदर्शन करेगा। वैक्सीन प्राप्त करने वाले लोगों में प्रयोगशाला-पुष्टि COVID-19 संक्रमण को रोकने में वैक्सीन नैदानिक ​​​​परीक्षणों (प्रभावकारिता) में 66.3 प्रतिशत प्रभावी था और पहले से संक्रमित होने का कोई सबूत नहीं था। 

बायोलॉजिकल ई के साथ साझेदारी पर जॉनसन एंड जॉनसन ने कहा, “जैविक ई हमारे वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला नेटवर्क का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होगा, जो सरकारों, स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ हमारे व्यापक सहयोग और साझेदारी के माध्यम से हमारे जॉनसन एंड जॉनसन COVID-19 वैक्सीन की आपूर्ति करने में मदद करेगा। और Gavi और COVAX सुविधा जैसे संगठन।"