क्या तीरथ सीएम पद पर है कुछ दिन के मेहमान, क्या बदल जाएंगे सीएम

उत्तराखंड की राजनीति में अगला पड़ाव बदल सकते है सीएम

क्या तीरथ सीएम पद पर है कुछ दिन के मेहमान, क्या बदल जाएंगे सीएम

उत्तराखंड की राजनीति क्या होने वाला है इसका कुछ पता नहीं पर अनुमान है की इस बार फिर सीएम बदलने की नौबत आ सकती है। फिलहाल अब विधानसभा के चुनाव में समय बचा नहीं है। वहीं बुधवार हाई कमान के बुलावे पर देर रात सीएम की मुलाकात गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ हुई थी लेकिन चर्चा का विषय कुछ सामने ना आकर सस्पेंस बना रहा।  तीरथ रावत को गुरुवार शाम तक उत्तराखंड लौटना था, मगर अचानक उनकी वापसी रद्द हो गई। 

सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है की तीरथ सीएम के पद पर सिर्फ कुछ दिनों के मेहमान है। बीजेपी के नेतृत्व में तीरथ सिंह रावत को सीएम की कुर्सी को अलविदा कहना पड़ सकता है। बीजेपी का कहना है किसी भी सीएम से मुलाकात करना राजनीति रूटीन का हिस्सा है लेकिन सीएम के बदलने की खबर बिल्कुल जंगल में लगी आग की तरह फैलती जा रही है। अब उत्तराखंड की राजनीति में देखना है की अगला पड़ाव क्या होगा। 

पार्टी उपचुनाव के पक्ष में नहीं 

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मुलकात का नतीजा सामने आया है की पार्टी उपचुनाव के पक्ष में नहीं दिख रही है रावत ने अपने संसदीय क्षेत्र पौड़ी गढ़वाल से ही चुनाव लड़ने का मन बताया है और इस सीट के खाली करवाए जाने का रास्ता भी, लेकिन सूत्रों के जरिए खबर कहती है कि पार्टी ने उपचुनाव का फैसला किया तो अन्य राज्यों में भी खाली सीटों पर उपचुनाव करवाने पड़ेंगे. इसलिए पार्टी उपचुनाव नहीं बल्कि अगले साल राज्य विधानसभा चुनाव पर फोकस कर रही है।