भारत की नई उम्मीद, सेमीफइनल में पहुंची लवलीना बोरगोहेन

भारतीय महिला बॉक्सर खिलाड़ी लवलीना बोरगोहेन चीनी ताइपे की निएन चिन चेन को हरा कर सेमीफइनल में पहुंच गई है।

भारत की नई उम्मीद, सेमीफइनल में पहुंची लवलीना बोरगोहेन

भारतीय महिला बॉक्सर खिलाड़ी लवलीना बोरगोहेन चीनी ताइपे की निएन चिन चेन को हरा कर सेमीफइनल में पहुंच गई है। सेमीफाइनल में पहुंचने से उम्मीद जताई जा रही है की टोक्यो ओलंपिक में भारत का दूसरा मेडल आना पक्का है। बता दे की इससे पहले महिला वेटलिफ्टर मीराबाई चानू ने सिल्वर मेडल में जीत का का परचम लहरा कर भारत वापस आई है।  


लवलीना बोरगोहेन पहली बार ओलंपिक में प्रतिभाग कर रही है। ऐसे में माना जा रहा है की कम से कम ब्रॉन्ज मेडल पक्का हो गया है। लवलीना विश्व चैंपियनशिप में और एशियाई चैंपियनशिप में एक बार की कांस्य पदक विजेता हैं। लवलीना से पहले महिला बॉक्सर एमसी मैरीकॉम ने 2012 लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीता था। ओलंपिक इतिहास में सिर्फ दो महिला बॉक्सर ही मेडल जीत सकी हैं। वहीं पुरुष कैटेगरी में 2008 बीजिंग ओलंपिक में विजेंदर सिंह ने ब्रॉन्ज मेडल जीता था। 


31 जुलाई को पूजा रानी क्वार्टर फाइनल में चीन की कियान ली दो-दो हाथ करेंगी वहीं एमसी मैरीकॉम और सिमरनजीत कौर राउंड-16 में हारकर बाहर हो गई हैं। भारत की 4 महिला खिलाड़ियों ने ओलंपिक के लिए क्वालिफाई किया था। भारतीय मुक्केबाज सिमरनजीत कौर ( 60 किलो ) ओलंपिक खेलों में पदार्पण के साथ ही प्री क्वार्टर फाइनल में थाईलैंड की सुदापोर्न सीसोंदी से हारकर बाहर हो गई।