पीएम मोदी से मिलने की चाह में श्रीनगर से दिल्ली पैदल यात्रा कर पहुंचेंगे उनके प्रशंसक, फहीम नजीर

जम्मू-कश्मीर के उधमपुर प्रदेश के फहीम नजीर शाह श्रीनगर से पैदल चलकर दिल्ली जा रहे हैं। इसकी मात्र एक वजह हमारे पीएम नरेंद्र सिंह मोदी।

पीएम मोदी से मिलने की चाह में श्रीनगर से दिल्ली पैदल यात्रा कर पहुंचेंगे उनके प्रशंसक, फहीम नजीर

जम्मू-कश्मीर के उधमपुर प्रदेश के फहीम नजीर शाह श्रीनगर से पैदल चलकर दिल्ली जा रहे हैं। इसकी मात्र एक वजह हमारे पीएम नरेंद्र सिंह मोदी। फहीम नजीर मोदी के इस कदर प्रशंसक है की उनसे मिलने के लिए श्रीनगर से पैदल यात्रा करके मोदी जी से मिलना चाहते है। अब उनके पैदल चलने की भी एक वजह है दरअसल फहीम को लगता है की वह अपनी पैदल यात्रा से मोदी जी का ध्यान केंद्रित कर सकते है जिससे मोदी उनसे मिलने पर मजबूर हो जाए। 

815 किलोमीटर सफर तय करके दिल्ली पहुंचेंगे

फहीम मोदी के इतने बड़े प्रशंक है की उनसे मिलने की उम्मीद में करीब 815 किलोमीटर सफर तय करके दिल्ली पहुंचेंगे। उनका कहना है की मेरी इस पैदल यात्रा को सुनकर शायद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का ध्यान जाएगा और उन्हें उनसे मिलने का मौका मिलेगा। जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में अंशकालिक इलेक्ट्रीशियन के रूप में काम करने वाले 28 वर्षीय  फहीम ने कहा, "मैं प्रधान मंत्री मोदी का बहुत बड़ा प्रशंसक हूं।" रविवार को 200 किमी से अधिक चलने के बाद वह उधमपुर पंहुचा हूँ। 

ले रहे है छोटे छोटे ब्रेक 

श्रीनगर के शालीमार इलाके के निवासी फहीम ने दो दिन पहले शुरू हुई अपनी यात्रा थोड़ी थोड़ी दूर पर रुक अपनी यात्रा को पूरा कर रहे है वैसे गौर किया जाए तो जम्मू श्रीनगर से दिल्ली पैदल यात्रा करना अपने आप में ही एक बड़ी बात है। फहीम का विश्वास है की इस कठिन यात्रा के अंत में प्रधानमंत्री से मिलने का उनका सपना पूरा हो जाएगा। उन्होंने कहा, "मैं मोदी जी से मिलने के लिए पैदल दिल्ली जा रहा हूं और मैं प्रधानमंत्री का ध्यान आकर्षित करने की उम्मीद करता हूं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री से मिलने की उनकी पिछली कोशिशों का कोई नतीजा नहीं निकला। 

जब अजान सुनते ही रुक गए थे मोदी 

फहीम लगभग चार साल से पीएम मोदी को सोशल मीडिया के माध्यम से फॉलो कर रहे है। वो मोदी जी के हर भाषण को सुनते है फहीम। उनके भाषण फहीम को बेहद  पसंद आते है फहीम ने मोदी जी के भाषण को दिल छू लेने वाला बताया है। उन्होंने अपनी पिछली बातों को याद करते हुए बताया की, जब मोदी जी एक रैली में एक भाषण दे रहे थे तब वह अचनाक 'अजान' सुनाई देने लगी यह सुनकर मोदी जी भाषण देते देते रुक गए जिससे वह की जनता हैरान रह गई। हमारे प्रधान मंत्री जी की यह भावना मेरे दिल छू गई और तब से मैं उनका फैन बन गया। शाह ने कहा कि पिछले ढाई वर्षों में उन्होंने दिल्ली में प्रधानमंत्री मोदी से मिलने के लिए कई प्रयास किए हैं। उन्होंने कहा, 'प्रधानमंत्री के आखिरी कश्मीर दौरे के दौरान वो यहाँ आए थे मैं बहुत उत्साहित था उनसे मिलने के लिए लेकिन जब मैं वहां उनसे मिलने पंहुचा उनके सुरक्षाकर्मियों ने मुझे मिलने नहीं दिया। 
पर इस बार पूरी उम्मीद है की मैं उनसे मिल लू। 

बेरोजगारी पर करना चाहते है चर्चा 

वही 2019 में जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को समाप्त करने और एक राज्य से केंद्र शासित प्रदेश बनाने के बाद हुए बदलाव के बारे में पूछे जाने पर, उन्होंने कहा कि बदलाव दिखाई दे रहा है क्योंकि प्रधानमंत्री मोदी का ध्यान जम्मू-कश्मीर पर है। उन्होंने कहा, "स्थिति में बदलाव आ रहा है, विकास गतिविधियां अच्छी गति से हो रही हैं और केंद्र शासित प्रदेश आगे बढ़ रहा है। फहीम ने कहा कि वह पीएम के साथ शिक्षित और बेरोजगार युवाओं की समस्याओं और केंद्र शासित प्रदेश में औद्योगिक क्षेत्र के विकास पर चर्चा करना चाहते हैं।