कैसे बनती है कॉटन कैंडी, डेंटिश ने किया था कॉटन कैंडी मशीन का आविष्कार

हमेशा से देखा गया है कॉटन कैंडी बच्चों बेहद पसंद आता है की लेकिन अब बड़े भी कॉटन कैंडी का स्वाद लेते नजर आते है।

कैसे बनती है कॉटन कैंडी, डेंटिश ने किया था कॉटन कैंडी मशीन का आविष्कार

बचपन में हमसब ने कॉटन कैंडी तो जरूर खायी होगी और नब्बे के दशक की बात की जाए तो कॉटन कैंडी नाम शायद अब मशहूर हुआ भारत में वरना इससे नब्बे के दशक के बच्चे इसे बुड्ढी का बाल कहते थे। लेकिन जैसे जैसे समय बदलता गया लोगों का इसका असल नाम पता चला की इसे कॉटन कैंडी भी कहते है। हमेशा से देखा गया है कॉटन कैंडी बच्चों बेहद पसंद आता है की लेकिन अब बड़े भी कॉटन कैंडी का स्वाद लेते नजर आते है। 

मुँह में घुल जाती है कैंडी 

मेला हो या कोई कार्यक्रम कॉटन कैंडी का स्टाल जरूर देखने को मिल जाता था। वही रुई की तरह बिलकुल हल्की और मुँह घुलने वाली कैंडी का स्वाद बेहतरीन लगता है। कॉटन कैंडी अपने अलग अलग स्वादों की वजह से अलग अलग नामों से जानी जाती है। जैसे गुड़िया का बाल, बुढ़ियाँ का बाल, हवा मिठाई आदि के नामों से जानी जाती है। वही अब शादी, बर्थडे की पार्टियों में इसके स्टाल लगे होते है। 

डेंटिश ने किया था आविष्कार 

अब सोचने वाली बात है की आखिर यह चीज सबसे पहले कहा बनी होगी चलिए हम बता देते है की अमेरिका में विलियम जेम्स मॉरिसन नाम के दांतों के एक डॉक्टर थे। वह हमेशा नई और अनोखी चीजे बनाने में जुटे रहते थे। 1897 में उन्होंने एक हलवाई जॉन सी व्हाटर्न के साथ मिलकर एक ऐसी मशीन बनाई थी जो गरम चीनी को घूमते हुए एक कॉटन कैंडी बनाती थी। वही उस समय का यह अविष्कार सबसे अनूठा आविष्कार था। 

सात साल बाद आया था सबके सामने 

सात साल के बाद यानी 1904 में सेंट लुईस वर्ल्ड फेयर मेले में सबके सामने लेकर आए थे। वही धीरे धीरे यह मशीन लोगों के बीच लोकप्रिय होने लगी उस वक़्त अमेरिका ने इस नाम फेयरी प्लॉस का नाम दिया गया था हालाकिं मेले में बेचीं गई। मशीन से बनने वाली कैंडी का स्वाद कुछ ख़ास नहीं था और वह केवल सफ़ेद रंग की थी फिर भी उसकी बनावट लोगों को आकर्षित करती थी। 

कपास के पेड़ से बनते है 

इसके पीछे की असल वजह को देखा जाए तो यह कॉटन कैंडी कपास पेड़ में लगे रेसेदार फूलों से बनाया जाता है जबकि कैंडी को बनाते समय कम मात्रा में चीनी को मशीन में घुमाया जाता है जिससे वह रुई जैसा अकार ले लेती है। लम्बे समय से कॉटन कैंडी का रंग गुलाबी रंग में देखा गया है लेकिन अब कुछ जागों में मल्टी कलर में भी बनने लगा है। स्वाद में केवल मीठा लगने वाला कॉटन कैंडी अब खट्टे स्वाद में भी आता है। वही अमेरिका में हर साल 7 दिसंबर को कॉटन कैंडी डे मनाया जाता है।