होटल कारोबारियों को मिली रहत की सांस मसूरी में खुले 15 फीसदी होटल्स

उत्तराखंड चरमराई अर्थव्यवस्था में मिली व्यापारियों को राहत

होटल कारोबारियों को मिली रहत की सांस मसूरी में खुले 15 फीसदी होटल्स

कोरोना के कारण प्रदेश की अर्थव्यवस्था काफी हद तक डामा डोल हो चुकी है। उत्तराखंड में कोरोना कर्फ्यू एक बार फिर 15 जून तक बढ़ा दिया गया है। उत्तराखंड पर्यटन स्थल है लेकिन कोरोना ने पर्यटकों से गुलजार होने वाले सभी पर्यटन स्थल को सुना कर दिया है। पर्यटन संबंधी गतिविधियां ठप होने ने परवर्तीय कारोबारियों को घाटे पे घाटे होता जा रहा है। 

हालांकि प्रदेश सरकार ने कारोबारियों को मद्देनजर रखते हुए नई गाइडलाइन में कुछ राहतें देने का ऐलान किया गया है, जिसके बाद पर्यटन कारोबारियों ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी हैं। एक खबर के मुताबिक पहाड़ों की रानी मसूरी में 15 फीसदी होटल खुल गए हैं। ऑनलाइन बुकिंग शुरू हो गई है। देश और उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी आई है। 


संक्रमण कम होते ही महीनों से घरों में बंद लोग सैर-सपाटे पर निकलने लगे हैं। दिल्ली समेत मैदानी इलाकों के लोगों ने मसूरी का रुख करना शुरू कर दिया है। सैलानियों की आमद बढ़ने से पर्यटन व्यवसायियों के चेहरे खिल गए हैं। मसूरी में करीब ढाई सौ होटल हैं। यहां पर्यटकों के स्वागत के लिए 15 फीसदी होटल खुल गए हैं। सोमवार को मसूरी में सैलानियों की चलकदमी देखीं गई। 

उत्तराखंड होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष संदीप साहनी ने बताया कि पर्यटक मसूरी घूमने के लिए ऑनलाइन बुकिंग करा रहे हैं। शहर के 15 फीसदी होटल खुल गए हैं। कोविड संबंधी गाइडलाइन का सख्ती से पालन किया जा रहा है। अगर आप भी छुट्टियां बिताने के लिए दूसरे राज्य से उत्तराखंड आने की प्लानिंग कर रहे हैं, तो एसओपी का ध्यान जरूर रखें। पर्यटकों को यहां आने के लिए देहरादून स्मार्ट सिटी के पोर्टल पर अपना पंजीकरण कराना होगा। साथ ही 72 घंटे पूर्व की आरटीपीसीआर रिपोर्ट भी साथ लानी होगी।