हिमाचल प्रदेश: मरने वालों की संख्या हुई 10 घायलों की संख्या हुई 15, बाकियों की तलाश जारी

हिमाचल प्रदेश के किन्नौर के नुगुलसारी इलाके में रिकांग पियो-शिमला राजमार्ग पर भूस्खलन के मलबे में फंसे लोगों को तलाश रही है आईटीबीपी के जवान

हिमाचल प्रदेश:  मरने वालों की संख्या हुई 10  घायलों की संख्या हुई 15, बाकियों की तलाश जारी

हिमाचल प्रदेश के किन्नौर के नुगुलसारी इलाके में रिकांग पियो-शिमला राजमार्ग पर भूस्खलन के मलबे में फंसे एक व्यक्ति को आईटीबीपी के जवानों ने बचाया। राज्य सरकार की ताजा जानकारी के अनुसार, मरने वालों की संख्या 10 हुई। 15 लोग घायल लोगों को बचा लिया गया है और एक व्यक्ति की मौत हो गई है। तलाशी अभियान चल रहा है।  बुधवार दोपहर एक बड़े भूस्खलन में करीब 60 लोग अपने वाहनों सहित मलबे के नीचे दब गए। 

स्टेट इमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर की तरफ से सुचना प्राप्त हुई है की हिमाचल प्रदेश के किन्नौर में भूस्खलन स्थल से कुल 10 लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया है। दो लोगों की मौत हो चुकी है। हिमाचल प्रदेश के किन्नौर में भूस्खलन स्थल से एक और शव बरामद हुआ है। मरने वालों की संख्या चार हो गई है। 30 से ज्यादा लोगों के दबे होने की आशंका है। 


खबर है की इस हादसे में बस के पीछे एक ट्रक भी था आशंका है वो भी मलबे में दब गया है। इसी के बारे में  किन्नौर से कांग्रेस विधायक जगत सिंह ने बताया की 2 किलोमीटर पीछे रामपुर की तरफ भूस्खलन के कारण अभी एक बस दबी हुई है। कुछ छोटी गाड़ियों और एक ट्रक के भी दबे होने की आशंका है। वहीं इस हादसे में ड्राइवर का फ़ोन काम आया उसी फ़ोन के जरिए से फंसे लोग संपर्क कर रहे थे। 


हालाकिं आईटीबीपी के जवान अभी तलाशी में जुटे हुए है लेकिन अभी दरकती चट्टानों का खिसकना बंद नहीं हुई है स्थानीय लोगों में डर बना हुआ है। वहीं स्थानीय लोग अभी भी आईटीबीपी के जवानों के साथ जुटे हुए और फसें हुए यात्रियों को निकलने में और उन्हें अस्पताल पहुंचाने में मदद कर रहे है। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से मुलाकात की और केंद्र से हर संभव मदद का आश्वासन दिया।