तीर्थयात्रियों के लिए आज से खुला हेमकुंड साहिब, 1,000 से अधिक श्रद्धालओं को अनुमति नहीं

देहरादून: चार धाम यात्रा के साथ-साथ सिखों के श्रद्धेय हेमकुंड साहिब की वार्षिक तीर्थयात्रा आज शनिवार (18 सितंबर) से शुरू हो गई है

तीर्थयात्रियों के लिए आज से खुला हेमकुंड साहिब, 1,000 से अधिक श्रद्धालओं को अनुमति नहीं

देहरादून: चार धाम यात्रा के साथ-साथ सिखों के श्रद्धेय हेमकुंड साहिब की वार्षिक तीर्थयात्रा आज शनिवार (18 सितंबर) से शुरू हो गई है. हालांकि, उत्तराखंड सरकार ने निर्दिष्ट किया है कि एक दिन में 1,000 से अधिक श्रद्धालुओं को मंदिर में प्रवेश की अनुमति नहीं होगी। 

हृदय और अस्थमा रोगी नहीं होंगे शामिल 

हेमकुंड साहिब प्रबंधन ट्रस्ट ने भी श्रद्धालुओं के लिए कोविड-19 सुरक्षा दिशा-निर्देश जारी किए हैं। ट्रस्ट के उपाध्यक्ष नरेंद्रजीत सिंह बिंद्रा ने कहा, 'हृदय और अस्थमा जैसी स्वास्थ्य संबंधी बीमारियों से पीड़ित लोगों को यात्रा में शामिल नहीं होने दिया जाएगा। साथ ही, हम 60 साल से ऊपर और 10 साल से कम उम्र के लोगों से तीर्थ यात्रा नहीं करने का अनुरोध करते हैं। साथ ही कुंड (मंदिर कुंड) में स्नान करना पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा। 

वैक्सीन की दोनों खुराख जरुरी 

दूसरे राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं को स्मार्ट सिटी पोर्टल पर अपना पंजीकरण कराना अनिवार्य है। सभी भक्तों को - वैक्सीन की दूसरी खुराक लेने के बाद 15 दिन पूरे करने वालों को छोड़कर - एक नकारात्मक आरटी-पीसीआर परीक्षण रिपोर्ट (आगमन के 72 घंटे से पहले नहीं) प्रस्तुत करने की आवश्यकता होगी। इसके अलावा, हेमकुंड साहिब आने वाले तीर्थयात्रियों को भी ऋषिकेश गुरुद्वारा ट्रस्ट कार्यालय में अपना पंजीकरण कराना होगा। 4,329 मीटर की ऊंचाई पर स्थित हेमकुंड साहिब में 2017 में 2.13 लाख, 2018 में 1.59 लाख, 2019 में 2.40 लाख और 2020 में 8,290 मतदान हुआ। 

श्रद्धालुओं के लिए बैकुंठ बद्रीनाथ धाम

बैकुंठ बद्रीनाथ धाम की यात्रा  श्रद्धालुओ के लिए खोल दी है। जिसके लिए बद्रीनाथ धाम में प्रशाशन तथा देवस्थानम बोर्ड द्वारा पूरी व्यवस्था कर दी है। अभी तक लगभग 200 श्रद्धालु बद्रीनाथ धाम के दर्शन कर चुके है। कोविड के कारण चार धाम यात्रा बंद थी। लेकिन हाई कोर्ट के आदेश के बाद चार धाम यात्रा खोलने के आदेश दिए है। चार धाम यात्रा खुलने से लोगो मे भारी खुशी देखने को मिल रही है। देवस्थानम बोर्ड द्वारा श्रद्धालुओ से कोविड नियमो का पालन करवाया जा रहा है।