राज्यपाल ले0 ज0 गुरमीत सिंह और खेल मंत्री रेखा आर्या ने किया खेल महाकुंभ-2 का शुभारम्भ

न्याय पंचायत, ब्लॉक, जिला और राज्य स्तर पर आयोजित की जाएंगी कई प्रतियोगिताएं, 15 जनवरी 2023 तक आयोजित की जाएंगी प्रतियोगिताएं,10 करोड़ रखा गया है बजट- रेखा आर्य

राज्यपाल ले0 ज0 गुरमीत सिंह और खेल मंत्री रेखा आर्या ने किया खेल महाकुंभ-2 का शुभारम्भ
राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (से नि) ने शनिवार को राजीव गांधी नवोदय विद्यालय, रायपुर से खेल महाकुंभ-2022 का शुभांरभ किया। युवा कल्याण एवं प्रान्तीय रक्षक दल विभाग द्वारा आयोजित इस खेल महाकुंभ में खेल मंत्री रेखा आर्या और स्थानीय विधायक उमेश शर्मा काऊ भी उपस्थित रहे। राज्यपाल ने इस दौरान प्रतिभागी खिलाड़ियों से परिचय प्राप्त कर उनका उत्साहवर्द्धन किया। उन्होंने खिलाड़ियों को खेल मशाल सौंपकर खेल महाकुंभ का शुभांरभ करते हुए प्रतियोगिता में विजेता खिलाड़ियों को प्रशस्ति पत्र और मेडल भी दिए।


इस अवसर पर राज्यपाल ने खिलाड़ियों को संबोधित करते हुए जीत का ऐसा जज्बा और जुनून रखें जो आपको बुलंदियों की ऊंचाई तक ले जाए। ऊंची सोच, ऊंचे सपने देखकर उस ओर दृृढ़ निश्चय के साथ मेहनत करें। उन्होंने खिलाडियों से कहा कि अभी से राष्ट्रीय एवं ओलंपिक खेलों की तैयारी करें। राज्यपाल ने कहा कि खेल में भाग लेने वाले प्रत्येक खिलाड़ियो को यह बात ध्यान रखनी होगी कि खेलों में केवल शारीरिक बनावट और ताकत के बल पर जीत नहीं मिलती बल्कि इसके लिए निरंतर अभ्यास, एकाग्रता और बौद्विक क्षमता का भी परिचय देना होता हैं। उन्होंने कहा कि जीत की भावना से खेलें और देश एवं प्रदेश का नाम रोशन करें। उन्होंने कहा कि 38वें राष्ट्रीय खेलों के आयोजन की जिम्मेदारी उत्तराखण्ड को दी गई है जिस पर हमें खरा उतरना होगा। इसके लिए युवा अभी से अपने लक्ष्य और अपने तैयारियों पर ध्यान केंद्रित करें।




खेल मंत्री रेखा आर्या ने बताया की खेल महाकुंभ का आयोजन चार स्तर पर किया जाएगा, जिनमें न्याय पंचायत, विकासखंड, जिला और राज्य शामिल हैं। बताते चले की साल 2017 से उत्तराखंड में लगातार हर साल खेल महाकुंभ का आयोजन किया जाता है ,इस साल 1 अक्टूबर से इसका आगाज हुआ है। हर एक न्याय पंचायत स्तर से शुरू होने वाले खेल महाकुंभ का रायपुर स्थित राजीव गांधी नवोदय विद्यालय में उद्घाटन कार्यक्रम किया गया।जिसमें राज्यपाल गुरमीत सिंह और खेल मंत्री रेखा आर्य मौजूद रहीं।इसी तरह से हर न्याय पंचायत स्तर पर आज से खेल महाकुंभ की शुरुआत हो गई है। आने वाले जनवरी माह तक न्याय पंचायत स्तर से ब्लॉक स्तर ब्लॉक स्तर से डिस्ट्रिक्ट लेवल और फिर राज्य स्तर तक खेल प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएंगी।


खेल मंत्री रेखा आर्या ने बताया की 1 अक्टूबर से 15 जनवरी तक आयोजित होने वाले इस खेल महाकुंभ में तकरीबन 10 करोड़ का बजट रखा गया है। इस खेल महाकुंभ के तहत सबसे पहले ग्रामीण क्षेत्रों से न्याय पंचायत स्तर पर खिलाड़ियों का चयन किया जाता | जहां पर दो आयु वर्ग और 3 विधाओं में छात्रों को ब्लॉक स्तर तक चयनित किया जाता है. वहीं, ब्लॉक स्तर से 3 आयु वर्ग और 4 विधाओं में खिलाड़ियों को डिस्ट्रिक्ट लेवल तक और उसके बाद फिर स्टेट लेवल तक आते हैं।


साथ ही खेल मंत्री ने कहा की निश्चित ही ऐसे आयोजनों से उत्तराखंड से हुनरमंद खिलाड़ियों को चुना जाएगा। यही खिलाड़ी आगे जाकर उत्तराखंड का नाम राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चमकायेंगे।खेल मंत्री ने खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करते हुए कहा की "खेलेगा उत्तराखंड तो आगे बढ़ेगा उत्तराखंड"। इस मौके पर खेल मंत्री ने खेल छात्रवर्ती योजना, स्पोर्ट्स डेवलपमेट फंड, खिलाड़ियों को मिलने जा रही प्रोत्साहन राशि सहित अन्य योजनाओं के बारे में भी सभी लोगों को अवगत कराया। बता दे की पिछले वर्ष तकरीबन सवा दो लाख छात्रों ने इस खेल महाकुंभ में भाग लिया था। इस बार इस लक्ष्य को बढ़ाकर तकरीबन ढाई लाख किया गया है। खेल महाकुम्भ 2022 का आयोजन न्याय पंचायत स्तर पर आज 1 अक्टूबर से 15 अक्टूबर 2022, विकासखण्ड स्तर पर 20 अक्टूबर से 05 नवम्बर 2022, जनपद स्तर पर 09 नवम्बर से 27 नवम्बर तथा राज्य स्तर पर 05 दिसम्बर 2022 से 25 जनवरी 2023 के मध्य कराया जाएगा। राज्य स्तर पर प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले खिलाड़ियों को नकद पुरस्कार के अतिरिक्त सीएसआर के अन्तर्गत विशेष पुरस्कार की भी व्यवस्था की गई है।


इस वर्ष खेल महाकुम्भ 2022 के अन्तर्गत राज्य के पारम्परिक खेलों जिनमे मुर्गा झपट,अड्डू ,गुल्ली डंडा, रस्सा कस्सी आदि शामिल हैं को भी पुनर्जीवित किया जाएगा जिन्हें की शो मैच के रुप में आयोजित किया जाएगा।




यह होगा खेल महाकुंभ का स्वरूप



न्याय पंचायत स्तर- कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या ने जानकारी देते हुए बताया कि राज्य में कुल 662 न्याय पंचायतें हैं जिसमे सबसे बड़ी न्याय पंचायत सिसौना, सितारगंज हैं जिसमे की 22 ग्राम है। न्याय पंचायत स्तर -खिलाड़ियों के लिए न्याय पंचायत स्तर पर आयु अंडर-14 और अंडर -17 है। इसमें कबड्डी,खो-खो,बॉलीवाल, एथेलेटिक्स खेल रखे गए हैं।


विकासखण्ड स्तर–
राज्य में कुल 95 विकास खंड हैं ।विकास खंड स्तर पर खिलाड़ियों की आयु अंडर-14,अंडर-17,अंडर-21 रखी गई है जिसमे बालक व बालिका प्रतिभाग कर सकते हैं।विकास खंड स्तर पर कबड्डी,खो-खो,बॉलीवाल,एथेलेटिक्स, बैडमिंटन और बालक वर्ग में फुटबॉल खेलों को रखा गया है।


जनपद स्तर-
जनपद स्तर पर खिलाड़ियों की आयु अंडर-14,अंडर-17,अंडर-21 रखी गई है जिसमे बालक व बालिका प्रतिभाग कर सकते हैं।जनपद स्तर पर कबड्डी,खो-खो,बॉलीवाल,एथेलेटिक्स, बैडमिंटन,बालक वर्ग में फुटबॉल,जुडो, बॉक्सिंग,टेबिल टेनिस,ताइक्वांडो, हैंडबाल ,बास्केटबॉल और कराटे खेलों को रखा गया है।


राज्य स्तर
- राज्य स्तर पर खिलाड़ियों की आयु अंडर-14,अंडर-17,अंडर-21 रखी गई है जिसमे बालक व बालिका प्रतिभाग कर सकते हैं।राज्य स्तर पर कबड्डी,खो-खो,बॉलीवाल,एथेलेटिक्स, बैडमिंटन,बालक वर्ग में फुटबॉल,जुडो, बॉक्सिंग,टेबिल टेनिस,ताइक्वांडो, हैंडबाल ,बास्केटबॉल ,कराटे और हॉकी खेलों को रखा गया है।


खेल मंत्री रेखा आर्या ने कहा कि इस वर्ष पैंटाथलान का भी आयोजन किया जाएगा जिसमे की 17 से 21 आयु वर्ग के खिलाड़ी भारतीय सेना,अर्धसैनिक बल,पुलिस ,होम गार्ड आदि में भर्ती हेतु निर्धारित मानक 1600 मीटर दौड़,लंबी कूद, ऊंची कूद,क्रिकेट बॉल थ्रो,चिनपअप विधाओं में राज्य के युवाओं को आकर्षित करने हेतु जनपद और राज्य स्तर पर आयोजित किया जाएगा।


इस अवसर पर कार्यक्रम में रायपुर विधायक उमेश शर्मा काऊ जी,विशेष प्रमुख सचिव श्री अभिनव कुमार जी, निदेशक खेल एवं युवा कल्याण IRS  जितेन्द्र सोनकर जी, सयुंक्त निदेशक युवा कल्याण श्री अजय अग्रवाल जी, संयुक्त निदेशक खेल धर्मेंद्र भट्ट जी, उप निदेशक युवा कल्याण शक्ति सिंह जी सहित विभागीय अधिकारी, कर्मचारी और खिलाड़ी उपस्थित रहे।