मंदिर जा रही नाबालिक के साथ हुआ गैंगरेप, गंभीरता न दिखाने पर कोर्ट ने लगाई जिला पुलिस को फटकार

यह घटना उस समय हुई जब पीड़िता मंदिर जा रही थी। आरोपी ने उसे नशीला पदार्थ दिया और फिर पास के जंगल में उसके साथ दुष्कर्म किया।

मंदिर जा रही नाबालिक के साथ हुआ गैंगरेप, गंभीरता न दिखाने पर कोर्ट ने लगाई जिला पुलिस को फटकार

पिथौरागढ़ में 14 साल की बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म का स्वत: संज्ञान लेते हुए कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश संजय कुमार मिश्रा और न्यायमूर्ति आरसी खुल्बे की खंडपीठ ने मामले में त्वरित कार्रवाई नहीं करने पर जिला पुलिस की खिंचाई की. . यह तब हुआ जब पीड़िता के परिवार ने अदालत को पत्र लिखकर हस्तक्षेप करने की मांग की। बलात्कार पीड़िता के परिवार द्वारा अदालत को भेजे गए पत्र के अनुसार, 1 मार्च को महा शिवरात्रि के अवसर पर छह लोगों द्वारा उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया गया था। 


यह घटना उस समय हुई जब पीड़िता मंदिर जा रही थी। आरोपी ने उसे नशीला पदार्थ दिया और फिर पास के जंगल में उसके साथ दुष्कर्म किया। बाद में तलाशी अभियान के दौरान लड़की जंगल में मिली। इसके बाद मामले में मुकदमा दर्ज कराया गया। हालांकि, पुलिस घटना के छह दिन बाद ही हरकत में आई, पत्र में दावा किया गया है। मामले की सुनवाई के दौरान पीठ ने पुलिस विभाग को फटकार लगाते हुए पूछा, ''इतना गंभीर मामला होने पर भी पुलिस ने कोई मुस्तैदी क्यों नहीं दिखाई?। 


कोर्ट को जवाब देते हुए एसपी पिथौरागढ़ ने बताया कि छह में से चार आरोपितों को पकड़ लिया गया है और बाकी दो की तलाश जारी है। दलीलें सुनने के बाद अदालत ने पुलिस से नाबालिग से दुष्कर्म पीड़िता को सुरक्षा मुहैया कराने को कहा। साथ ही पुलिस से जांच की प्रगति रिपोर्ट देने को भी कहा।