शिक्षा मंत्री के दावे हुए छू मंतर,घोषणा के बाद भी शिक्षकों की लगाई चुनाव में ड्यूटी

शिक्षक नहीं करेंगे गैर शैक्षिक कार्य घोषणा के बाद शिक्षा मंत्री ने लगाईं चुनाव में ड्यूटी ।

शिक्षा मंत्री  के दावे हुए छू मंतर,घोषणा के बाद भी शिक्षकों  की लगाई चुनाव में ड्यूटी

गैर शैक्षिक कार्यों को लेकर नाराजगी जताने वाले शिक्षकों के हित में प्रदेश के शिक्षा मंत्री डॉक्टर धन सिंह रावत ने कुछ दिन पहले ही यह घोषणा की थी कि शिक्षक सिर्फ पढ़ाएंगे और कोई कार्य नहीं करेंगे।लेकिन इस घोषणा के कुछ दिन बाद ही शिक्षकों की चुनाव प्रशिक्षण संबंधी ड्यूटी लगा दी गई जिसके बाद शिक्षकों में काफी नाराजगी  देखने को मिली।

 

आपको बता दें की बीती 12 जुलाई को ही राज्य के शिक्षा मंत्री डॉक्टर धन सिंह रावत ने नई शिक्षा नीति का शुभारंभ किया था जिसमें यह घोषणा की थी कि शिक्षक सिर्फ पढ़ाएंगे कुछ और कार्य नहीं करेंगे राज्य के 72000 शिक्षकों से अब सिर्फ बच्चों को पढ़ाने के अलावा और कोई कार्य उनसे नहीं कराया जाएगा ना तो शिक्षक बीएलओ ड्यूटी करेंगे ना ही कुछ और उनका कार्य सिर्फ बच्चों को सही ज्ञान देना होगा

 

इस पहल से यह होगा कि शिक्षक बाकी कार्यों से निजात पाकर बच्चों को मन लगाकर पड़ा सकेंगे लेकिन शिक्षा मंत्री की इस घोषणा के एक सप्ताह बाद ही देहरादून में शिक्षकों की चुनाव प्रशिक्षण संबंधी ड्यूटी लगा दी गई है।

 

यह बात तब सामने आई जब सहायक निर्वाचन अधिकारी की ओर से इस संबंध में सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी को पत्र लिखा गया और कहा गया कि शिक्षा विभाग, कृषि विभाग, आईटीआई, नगर निगम, व पंचायती राज विभाग के कर्मचारियों को बुधवार को जिला निर्वाचन कार्यालय देहरादून में उपस्थित होने के लिए कहा जाए और जो उपस्थित ना हो उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाए।