CBSE 10th-12th Result 2022: दो साल लगातार ऑनलाइन पढ़ाई के कारण इस साल पासिंग पर्सेंटेज पर पड़ा असर

शिक्षकों का कहना है कि दो साल से लगातार ऑनलाइन पढ़ाई के कारण छात्रों की पढ़ाई प्रभावित हुई है. इसका सीधा असर इस साल पासिंग पर्सेंटेज पर पड़ा है।

CBSE 10th-12th Result 2022: दो साल लगातार ऑनलाइन पढ़ाई के कारण इस साल पासिंग पर्सेंटेज पर  पड़ा असर

कोरोना काल के बाद जबसे स्कूल खुले है बच्चे पढाई और स्कूल जाने से कतराते है| क्योंकि बच्चो के आराम दायक लाइफ की आदत हो गई है मतलब की कोरोना टाइम से ऑनलाइन पढाई, ऑनलाइन टेस्ट और एग्जाम भी ऑनलाइन हो रहे थे जिसके चलते इस बार ऑफलाइन मोड में हुई परीक्षाओ में छात्रों का उत्तीर्ण प्रतिशत कम रहा। शिक्षकों का कहना है कि दो साल से लगातार ऑनलाइन पढ़ाई के कारण छात्रों की पढ़ाई प्रभावित हुई है. इसका सीधा असर इस साल पासिंग पर्सेंटेज पर पड़ा है। देहरादून क्षेत्र कुल 16 क्षेत्रों में से 12वीं कक्षा 15वीं स्थान और 10वीं कक्षा 12वीं स्थान पर है।

पिछले साल सीबीएसई 10वीं के रिजल्ट में देहरादून क्षेत्र के 99.23 फीसदी छात्र सफल हुए थे. वहीं, इस साल 10वीं कक्षा में 94.32 फीसदी छात्र सफल हुए हैं. वहीं, पिछले साल 12वीं में 98.6 फीसदी छात्र पास हुए थे. वहीं, इस साल 12वीं कक्षा में 85.39 विद्यार्थी ही सफल हुए हैं। साल 2021 में बोर्ड की लिखित परीक्षा कोरोना के चलते नहीं हो पाई थी। ऐसे में सीबीएसई ने पुरानी और मौजूदा दोनों कक्षाओं के अंक, प्रोजेक्ट और असाइनमेंट के आधार पर छात्रों को नंबर दिए.

बिना परीक्षा के बोर्ड ने 40, 30, 30 के फॉर्मूले पर रिजल्ट तैयार किया था। इसमें 10वीं से 40 फीसदी और 11वीं व 12वीं से 30-30 फीसदी अंक लिए गए थे. इससे पिछले तीन वर्षों की तुलना में वर्ष 2021 में देहरादून क्षेत्र के परिणामों में 15.42 प्रतिशत की वृद्धि हुई। इस बार दो भागों में हुई बोर्ड परीक्षा में टर्म-1 का पेपर ओएमआर शीट पर छात्रों ने दिया था. टर्म-2 में पुराने पैटर्न के अनुसार परीक्षा दी गई थी।

पासिंग परसेंटेज में जवाहर नवोदय विद्यालय अव्वल

12वीं के पास प्रतिशत की बात करें तो जवाहर नवोदय विद्यालय देहरादून क्षेत्र में सबसे ज्यादा रहा है। इस साल जेएनवी 99.73 प्रतिशत उत्तीर्ण प्रतिशत के साथ पहले, केवी 96.96 प्रतिशत के साथ दूसरे और तिब्बती स्कूल (सीटीएसए) 96.91 प्रतिशत के साथ रहा। क्षेत्र के सरकारी स्कूल 96.65 प्रतिशत उत्तीर्ण प्रतिशत के साथ चौथे और बोर्ड से संबद्ध अटल उत्कृष्ट विद्यालयों का उत्तीर्ण प्रतिशत 72.73 प्रतिशत है।

निजी स्कूलों में सबसे कम उत्तीर्ण प्रतिशत 25.79 प्रतिशत रहा। हाई स्कूल में भी जेएनवी ने 99.93 प्रतिशत के साथ प्रथम, केवल 97.5 प्रतिशत के साथ दूसरा, सरकारी स्कूल ने 97.49 प्रतिशत और अटल उत्कृष्ट विद्यालय 92.92 प्रतिशत के साथ चौथे स्थान पर रहा। हाई स्कूल में भी निजी स्कूलों का उत्तीर्ण प्रतिशत सबसे कम 20.69 प्रतिशत रहा।

केवी का रिजल्ट शत-प्रतिशत रहा

सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में केंद्रीय विद्यालय देहरादून मंडल के सभी स्कूलों का रिजल्ट शत-प्रतिशत रहा. जबकि पासिंग परसेंटेज 97.32 फीसदी रहा। संभाग के 15 केन्द्रीय विद्यालयों में कुल 3842 विद्यार्थियों ने 12वीं की परीक्षा दी। इनमें से 3739 छात्र पास हुए। 16 स्कूलों के कुल 3927 छात्र 10वीं की बोर्ड परीक्षा में शामिल हुए थे। इनमें से 3845 छात्र पास हुए

केवी संभाग में देहरादून की सुमन ने 12वीं कक्षा में 493 अंकों के साथ टॉप किया है। रुड़की की रक्षिता ने 490 अंक हासिल कर दूसरा और रुड़की की मानसी यादव ने 490 अंक हासिल कर तीसरा स्थान हासिल किया है। 10वीं कक्षा में बनबसा की अनन्या श्रीवास्तव ने 491 अंक हासिल कर पहला स्थान हासिल किया।

देहरादून के सगुन बिष्ट दूसरे और हरिद्वार के कृष वर्मा 490 अंकों के साथ तीसरे स्थान पर रहे। केवी देहरादून मंडल की उपायुक्त मीनाक्षी जैन ने छात्रों को बधाई देते हुए कहा कि छात्रों ने केवी का नाम रोशन किया है.