जय-जयकार लगाकर यमुनोत्रीधाम की तरफ बढ़े श्रद्धालु, खिले उठे चेहरे

उत्तराखंड में जैसे ही चारधाम यात्राएं शुरू हुई है वैसे वैसे परवर्तीय क्षेत्रों में तीर्थयात्रियों और श्रद्धालुओं के भीड़ बढ़ती जा रही है

जय-जयकार लगाकर यमुनोत्रीधाम की तरफ बढ़े श्रद्धालु, खिले उठे चेहरे

उत्तराखंड में जैसे ही चारधाम यात्राएं शुरू हुई है वैसे वैसे परवर्तीय क्षेत्रों में तीर्थयात्रियों और श्रद्धालुओं के भीड़ बढ़ती जा रही है। जहाँ शुक्रवार बारिश थमी तो धाम के अंतिम प्रमुख पड़ाव जानकीचट्टी पुलिस चौकी के पास एसओपी की प्रक्रिया का पालन कर यात्रियों को भेजने की प्रक्रिया शुरू हो गई। 

पहुंचे चार सौ यात्री 

श्रद्धालुजन यमुना माता के जय जयकार लगाकर यमुनोत्रीधाम के नाम की यात्रा की तरफ बढ़ रहे है। इन श्रद्धालुओं के आवाजाही से पहाड़ों और श्रद्धालुओं के चेहरे पर रोंनके दिखाई दे रही है। काफी लम्बे अंतराल के बाद श्रदालुओं को यात्रा अवसर प्राप्त हुआ है। वही आंकड़े की बात करे तो शुक्रवार आज बारह बजे लगभग चार सौ साल यात्रियों की संख्या देखने को मिली। कई यात्रियों ने पुलिस प्रशासन से यमुनोत्री जाने की गुहार लगाई। वहीं कई ने 400 यात्री की संख्या सीमित करने वाले सरकारी फरमान पर नाराजगी व्यक्त की।

रवाना हुए 146 यात्री 

वहीं गुरुवार को 246 यात्रियों को लेकर टिहरी गढ़वाल मोटर्स ऑनर्स यूनियन की चार बसें चारधाम रवाना हुई। चार बसों से 146 यात्री चारधाम को रवाना हुए। वहीं हरिद्वार से बदरीनाथ जाने वाली विश्वनाथ की दो बसों से 40 सवारी रवाना हुए। हरिद्वार से गौरीकुंड जाने वाली बस से भी 20 सवारी रवाना हुए। टीजीएमओ के अध्यक्ष जितेंद्र नेगी ने बताया कि चारधाम यात्रा तय तिथि ना मिलने से यात्रियों किस संख्या में कम देखी जा रही है। 

हेमकुंड तक पहुंच रहे है यात्री 

शुक्रवार आज सोनप्रयाग जाने वाली बस में भी 19 यात्री केदारनाथ के लिए  रवाना हुए।  ऋषिकेश से बद्रीनाथ जाने वाली रोडवेज की बस में 21 सवारी रवाना हुए। रोडवेज के वरिष्ठ केंद्र प्रभारी हरेंद्र कुमार ने बताया कि आने वाले दिनों में बदरीनाथ मार्ग पर यात्रियों की संख्या में इजाफा होगा। ऋषिकेश से 275 सिख यात्रियों का दल हेमकुंड साहिब के दर्शनों के लिए रवाना हुआ। श्री हेमकुंड साहिब गुरुद्वारा ऋषिकेश के प्रबंधक सरदार दर्शन सिंह ने बताया कि अब यात्रियों की संख्या में दिनोंदिन इजाफा हो रहा है।