Delhi Girl Dragged Case : - कार ने लड़की को 4 KM तक घसीटा, हुई दर्दनाक मौत

जहा पूरी दुनिया नए साल का जश्न बना रही थी हर तरफ नए साल के आने की ख़ुशी  थी सब एक दुसरे को साल मंगलमय होने की शुभकामनाये दे रहे थे.

Delhi Girl Dragged Case : - कार ने लड़की को 4 KM तक घसीटा, हुई दर्दनाक मौत
जहा पूरी दुनिया नए साल का जश्न बना रही थी हर तरफ नए साल के आने की ख़ुशी  थी सब एक दुसरे को साल मंगलमय होने की शुभकामनाये दे रहे थे, वही देश की राजधानी दिल्ली में कुछ ऐसा हुआ जिसने सभी को चौका कर रख दिया एक ऐसा हादसा जो अब तक देश का सबसे बड़ा हादसा बताया जा रहा है. नए साल के जश्न में डूबे पांच युवको ने एक घर का गुरूर उनकी बेटी  को उनसे छीन लिया क्या है पूरा मामला आइये आपको बताते है. दिल्ली के कंझावला में 31 दिसंबर और एक जनवरी की दरमियानी रात को एक्सीडेंट के बाद एक लड़की कार के नीचे फंस गई. इसके बाद भी कार सवार युवकों ने गाड़ी नहीं रोकी और लड़की 7-8 किलोमीटर तक घिसटती चली गई.

इस हादसे में युवती की हालत यह हो गई कि उसकी सारी हड्डियां चकनाचूर हो गई। उसके तन पर एक भी कपड़ा नहीं बचा। युवती के दोनों पैर, सिर व शरीर के अन्य हिस्से बुरी तरह कुचल गए। बाहरी दिल्ली इलाके में रोंगटे खड़े कर देने वाली सनसनीखेज घटना से सब सहम गए। दिल्ली को दहला देने वाली यह घटना उस समय सामने आई है जब नए साल के जश्न को लेकर पूरी दिल्ली पुलिस यहां तक दिल्ली पुलिस आयुक्त संजय अरोड़ा सड़कों पर थे। यह देश की सबसे बड़ी दर्दनाक सड़क दुर्घटना बताई जा रही है।

इस घटना का एक cctv फुटेज भी सामने आया जिसमें देखा जा सकता है की एक्सीडेंट के बाद एक स्कूटी सवार युवती गाड़ी के पहियों में फंसी हुई थी और तेज रफ़्तार गाड़ी तब भी नहीं रुकी गाड़ी युवती  को 7 से 8 किलोमीटर तक घसीटती रही जिसके चलते यवती के सारे कपड़े फट गए और लाश     नग्न अवस्था  में दिखाई दे रही है. वही घटना  के वक्त मौजूद चास्म्दीद का कहना है की युवती के शव का ऊपर का हिस्सा क्षत-विक्षत नहीं था. आरोपियों ने पुलिस को पास आता देख शव को कार से बाहर फेंका था. पहले चास्म्दीद को लगा की कार का टायर फटा है मगर जब ध्यान से देखा तो कार के पहियों में एक युवती की लाश बिना कपड़ो के बहुत ही दर्दनाक तरीके  से फासी हुई है.

हालाँकि सुल्तानपुरी थाना पुलिस ने पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। सुल्तानपुरी थाना पुलिस ने लापरवाही से वाहन चलाने से मौत का मामला दर्ज किया है। पूछताछ में आरोपिओ ने कहा की वह शराब के नशे में थे और कार में तेज आवाज में गाने चला रखे थे। इस कारण उन्हें कार में युवती के फंसे होने की जानकारी नहीं थी। 

मिली जानकारी के अनुसार युवती शादी और अन्य कार्यक्रमों में फूल फेंकने का काम करती थी। देर रात में वह एक कार्यक्रम के बाद स्कूटी से अमन विहार स्थित अपने घर जा रही थी। वही युवती की माँ ने कहा कि मेरी बेटी मेरी सब कुछ थी. वह कल पंजाबी बाग में काम करने गई थी. मेरी बेटी शाम करीब साढ़े पांच बजे घर से निकली और कहा कि वह रात 10 बजे तक लौट आएगी. मुझे सुबह उसकी दुर्घटना के बारे में बताया गया था, लेकिन मैंने उसका शव नहीं देखा है.

इस मामले पर जब पुलिस से पुचा गया तो पुलिस का कहना है कि ये मामला सिर्फ एक्सीडेंट का है और सोशल मीडिया पर किसी तरह की अफवाह न फैलाएं. पीड़िता की मदद करने की बजाय आरोपी कार ड्राइव करते रहे. दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने इस मामले को लेकर दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी किया है. पुलिस स्कूटी बरामद कर और cctv के आधार पर हर पहलुओ पर केस की जांच कर रही है.